BPT Course Details in Hindi, एडमिशन से नौकरी तक पूरी जानकारी

अगर आप अभी स्कूल की पढ़ाई कर रहे है या 12 वी की पढ़ाई पूरी कर ली है और आगे चलकर मेडिकल फील्ड में अपना भविष्य बनाने का इच्छा रखते है तो आज की लेख आपके लिए महत्वपूर्ण है।

इस लेख में BPT course details in hindi के बारे में हम चर्चा करेंगे ताकि जिन लोगों को Physiotherapist बनाना है उन्हें बिल्कुल सही मार्ग मिले और कोई परेशानियों का सामना न करना पड़े।

हर कोई डॉक्टर, Nurse या फार्मासिस्ट नहीं बन सकते, लेकिन मेडिकल फील्ड में इसके अलावा और भी कई सारे पेशा है जिसमे विद्यार्थी अपना करियर बना सकते है।

ऐसा ही एक पेशा है फ़िज़ियोथेरेपिस्ट का, जिसकी मांग दिन प्रतिदिन तेजी से बढ़ रहे है क्योंकि इंसमे मरीजों को बिना दवाई के कैसे ठीक किया जाए उसके बारे में शिक्षा प्रदान की जाती है ताकि मरीजों को दवाइयों के दुष्प्रभावों से बचाया जा सकें।

अगर आप फ़िज़ियोथेरेपिस्ट बनना चाहते है तो आपको BPT Course (Bachelor of Physiotherapy) करना होगा। आज की इस लेख में हम इसी BPT कोर्स के बारे में बताने वाले है।

ताकि आपको पाता चले BPT क्या है, BPT कैसे करें, बीपीटी कोर्स में एडमिशन कैसे ले, बीपीटी कोर्स की फीस कितनी है, कौन सी नौकरी मिलेगी, सैलरी कितना मिलेगा, इत्यादि।

BPT Course Details in Hindi

बैचलर ऑफ फिजियोथेरेपी साढ़े चार साल की कोर्स है जिसे 12 वी के बाद किया जाता है, जो भी विद्यार्थी साइंस लेकर अपना 12 वी किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से पूरा किये है वह आगे चलकर बीपीटी कोर्स में दाखिला ले सकते है।

इसकी पढ़ाई करने के लिए इंडिया में सैकड़ों कॉलेज/यूनिवर्सिटीज है जहां से विद्यार्थी बीपीटी की पढ़ाई कर सकते है। कोर्स पूरा होने के बाद उम्मीदवारों को फ़िज़ियोथेरेपिस्ट के रूप में मेडिकल क्षेत्र में नौकरी मिलता है।

BPT Course Details in Hindi, BPT kya hota hai, BPT ki fees, BPT ki salary
BPT Course Details in Hindi

BPT kya hota hai

जिन लोगों को बीपीटी कोर्स के बारे में पता नहीं उनके लिए बीपीटी के बारे में थोड़ा जानकारी दे देता हूं;

BPT का पूरा नाम है Bachelor of Physiotherapy, यह साढ़े चार साल की पैरामेडिकल कोर्स है जिसमे विद्यार्थियों को फिजियोथेरेपी के बारे में थ्योरी और प्रैक्टिकल शिक्षा प्रदान की जाती है ताकि पेशेवर फ़िज़ियोथेरेपिस्ट को तैयार किया जा सकें।

BPT की इस ग्रेजुएशन कोर्स में विद्यार्थियों को एनाटोमी, फिजियोलॉजी, सोशियोलॉजी, बायोकेमिस्ट्री, फर्स्ट ऐड एंड सीपीआर, एक्सरसाइज थेरेपी, इलेक्ट्रोथेरेपी, पैथोलॉजी, जैसे विषयों के बारे में बारीकियों से ज्ञान प्रदान की जाती है।

यह एक ऐसी चिकित्सा विभाग है जिसमे मरीजों को बिना दवाइयों के ट्रीटमेंट किया जाता है, इंसमे मुख्यतः शरीर की मूवमेंट और एक्सरसाइज के द्वारा चिकित्सा किया जाता है।

ऐसे चिकित्सा की ओर धीरे धीरे लोगों की ध्यान आकर्षित हो रहा है, क्योंकि इंसमे दवाइयों की कोई दुष्प्रभाव नहीं होती, इसलिए सेहत में कोई बुरा असर भी नहीं होता।

आप अक्सर देखे होंगे जब किसी व्यक्ति को पुराने से पुरानी जोड़ों की दर्द, कमर की दर्द, पैरालिसिस, बगैरह होती है तब डॉक्टर मरीजों को फिजियोथेरेपी करने की सलाह देती है। उसके बाद फिजियोथेरेपी करके मरीज ठीक हो जाती है।

BPT Course के योग्यता

आपको समझ आ गया होगा कि BPT क्या होता है, अब आइये जानते है बीपीटी कोर्स के योग्यता और BPT Course Details in Hindi के बारे में।

बैचलर ऑफ फिजियोथेरेपी की कोर्स करने के लिए विद्यार्थियों को किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से कम से कम 12 वी पास करना होता PCB (फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी) विभाग से।

बीपीटी कोर्स करने के लिए योग्य बनने हेतु विद्यार्थियों को 12 वी में न्यूनतम 50 प्रतिशत नंबर प्राप्त करनी चाहिए, वही आरक्षण वर्ग के विद्यार्थियों के लिए कम से कम 45 प्रतिशत नंबर की जरूरत होती है।

इस कोर्स में दाखिला लेने वाले विद्यार्थियों का आयु कम से कम 17 साल की होनी चाहिए, इससे अधिक आयु है तो कोई समस्या नहीं होगा परंतु यदि आयु कम है तो योग्य नहीं माना जायेगा।

ध्यान रहे, BPT Course में एडमिशन होने के लिए विद्यार्थियों के आयु का कोई सीमा नहीं होती, किसी भी आयु के विद्यार्थी इंसमे दाखिला ले सकते है दूसरे पात्रता होने पर।

BPT Course kaise kare

BPT kaise kare,BPT course details in hindi, BPT kya hota hai, BPT course fees
BPT kaise kare

10 वी के बाद साइंस विभाग चुने: अगर आप बीपीटी की पढ़ाई करके फ़िज़ियोथेरेपिस्ट बनना चाहते है तो आपको 10 वी के बाद साइंस विषयों की चुनाव करना पड़ेगा, जिसमे फिजिक्स, केमिस्ट्री तथा बायोलॉजी होनी चाहिए।

साइंस लेकर 12 वी पूरा करे: विद्यार्थियों को किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12 वी पास करना है या इसके समकक्ष कोई डिग्री प्राप्त करना होगा, न्यूनतम 50 प्रतिशत अंकों के साथ।

एप्लीकेशन फॉर्म भरे: 12 वी पूरा करने के बाद बीपीटी कोर्स के लिए फॉर्म निकालते है उसे भरना है। इसके लिए कॉलेज की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाए वहां अपना नाम, पता, डेट ऑफ बर्थ, शैक्षणिक योग्यता आदि भरे, उसके बाद दस्तावेजों की स्कैन कॉपी अपलोड करके अप्लाई करे।

एंट्रेंस एग्जाम दे: कुछ कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए एंट्रेंस एग्जाम देना पड़ता है। ऐसे कॉलेज में अप्लाई करने के बाद एडमिट कार्ड मिल जाता है, उसे लेकर तय किये गए दिन में निर्धारित समय पर एग्जाम सेंटर में जाकर एग्जाम पूरा करना होता।

डाउनलोड रैंक कार्ड: एंट्रेंस एग्जाम के कुछ दिनों बाद कॉलेज द्वारा एग्जाम की रिजल्ट निकाली जाती है, वहां से आप अपने रैंक कार्ड डाउनलोड कर ले।

काउंसलिंग में हिस्सा ले: रैंक कार्ड डाउनलोड करने के बाद, यदि आपका रैंक अच्छा आता है तो अब बारी है काउंसलिंग में हिस्सा लेने का। कुछ काउंसलिंग में मुफ्त में हिस्सा ले सकते है और कुछ में फीस देकर काउंसलिंग के लिए रजिस्ट्रेशन करना होता।

काउंसलिंग के दौरान ही चॉइस फिलिंग का ऑप्शन रहता है, जिसमे उम्मीदवार अपना मन पसंद कॉलेज को क्रमानुसार सजा सकते है। यह सारे चीज सही से पूरा करने के लॉक करके उसके प्रिंट आउट निकाल लेना है।

एडमिशन: काउंसलिंग के बाद अब बारी है एडमिशन लेने की। जिन विद्यार्थियों का रैंक अच्छा होगा उन्हें अपने चॉइस अनुसार कॉलेज मिल जाएगा। कॉलेज में सीट अलॉट हो जाने के बाद सीट कुछ पैसे देकर सीट बुक करना होता है।

उसके बाद एडमिशन के लिए कॉलेज में जाना होता, वहां कॉलेज अधिकारी द्वारा विद्याथियों का दस्तावेजों की सत्यापित किया जाएगा, सारे चीज सही होने पर एडमिशन फीस जमा करके एडमिशन लेना होगा।

यह पढ़े:

BPT Course Admission Process

बीपीटी कोर्स में एडमिशन मुख्यतः तीन तरीके से मिलते है; पहला है, एंट्रेंस एग्जाम के माध्यम से, दूसरा है, मेरिट आधार पर और तीसरा है, डायरेक्ट एडमिशन।

एंट्रेंस एग्जाम के माध्यम से एडमिशन: IPU CET, VEE, BCECE, आदि एंट्रेंस एग्जाम के माध्यम से बड़े बड़े यूनिवर्सिटी एडमिशन करवाते है। अगर आप भी एंट्रेंस एग्जाम देकर एडमिशन लेना चाहते है तो ले सकते है।

लेकिन इसके लिए आपको पहले तैयारी करनी होगी उसके बाद ही आप इंसमे उत्तीर्ण हो सकते है। ज्यादातर बड़े बड़े यूनिवर्सिटी द्वारा एंट्रेंस एग्जाम लिया जाता है और ऐसे यूनिवर्सिटी का फीस भी कम होता है।

मेरिट के आधार पर एडमिशन: कुछ यूनिवर्सिटी द्वारा मेरिट के आधार पर एडमिशन आयोजित किया जाता है, ऐसे में उम्मीदवारों का 12 वी में प्राप्त नंबर के आधार पर मेरिट तैयार किया जाता है।

अगर मेरिट लिस्ट में नाम आता है तो काउंसलिंग में हिस्सा लेना होता उसके बाद कोर्स में एडमिशन मिलते।

डायरेक्ट एडमिशन: जिन विद्यार्थियों को एंट्रेंस एग्जाम माध्यम से या मेरिट बेसिस पर एडमिशन नहीं लेना है वह डायरेक्ट एडमिशन ले सकते है। इंडिया में सैकड़ों कॉलेज है जो BPT Course में डायरेक्ट एडमिशन लेते है।

ऐसे एडमिशन के लिए सीधा कॉलेज के साथ संपर्क करना होता या उनके ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर एडमिशन फॉर्म भरना होता आवेदन शुल्क जमा करके। उसके बाद दस्तावेजों की सत्यापित करके एडमिशन पूरा किया जाता है।

BPT Course Fees (BPT कोर्स फीस)

बीपीटी कोर्स की फीस अलग अलग कॉलेज में अलग होती है। आमतौर पर सरकारी कॉलेजों में फीस बहुत कम लागत है परंतु प्राइवेट कॉलेजों में फीस बहुत ज्यादा देना होता।

सामान्यतः जिस कॉलेज का रेपुटेशन, इन्फ्रास्ट्रक्चर, कंपसिंग प्रक्रिया अच्छी है वैसी कॉलेज का फीस ज्यादा होती है। यदि BPT Course की औसतन फीस देखा जाए तो ₹7,000 से ₹1,00,000 प्रति वर्ष है।

यह रकम कॉलेज और राज्य के हिसाब से भिन्न-भिन्न होता है। यहां जो भी रकम बताई गई है वह औसतन रकम है; हर कॉलेज अपने हिसाब से फीस लेते है।

Scope of BPT Course (BPT के बाद क्या करे)

अगर आप सोच रहे है कि बीपीटी के बाद क्या करे तो आपको बता दे, बीपीटी के बाद आप आगे की पढ़ाई जारी रख सकते है, इसके लिए बेस्ट कोर्स है MPT, पीएचडी और और एमफिल।

अगर कोई नौकरी करना चाहते है तो वह निम्नलिखित क्षेत्र में फ़िज़ियोथेरेपिस्ट के रूप में नौकरी कर सकते है;

बीपीटी कोर्स की जॉब सेक्टर:

• सरकारी अस्पताल
• प्राइवेट अस्पताल
• स्पोर्ट्स सेक्टर
• एजुकेशनल क्षेत्र
• ऑक्युपंचरिस्ट
• एनिमल फ़िज़ियोथेरेपिस्ट
• एक्युपंचरिस्ट
• थेरेपी मैनेजर
• फिजियोथेरेपी कंसलटेंट
• रिसर्च डिपार्टमेंट

बीपीटी जॉब प्रोफाइल:

• सरकारी हॉस्पिटल फ़िज़ियोथेरेपिस्ट
• प्राइवेट हॉस्पिटल फ़िज़ियोथेरेपिस्ट
• रिसर्चर
• स्पोर्ट्स फ़िज़ियोथेरेपिस्ट
• लेक्चरर
• खुद की फिजियोथेरेपी क्लिनिक
• थेरेपी मैनेजर

BPT ki Salary

बीपीटी एक ऐसे मेडिकल कोर्स है जिसकी मांग तेजी के साथ बढ़ रही है, ऐसे उम्मीदवारों का मांग हमारे देश के अलावा विदेशों में भी काफी अच्छी है। अगर कोई विदेशों में नौकरी करना चाहता है तो वह कर सकते है।

ऐसे में विदेश में नौकरी करने वालो को बहुत ज्यादा सैलरी पैकेज मिलते है। विदेश में फ़िज़ियोथेरेपिस्ट के रूप में नौकरी करने के लिए सबसे अच्छी देश यूएसए, कनाडा, ब्रिटेन, यूएई, इत्यादि।

आमतौर पर सुरूवाती दौर में हमारे देश मे फ़िज़ियोथेरेपिस्ट को योग्यता और अनुभव के अनुसार सैलरी मिलते है। यदि एवरेज सैलरी की बात करे तो हर साल ₹2,00,000 – ₹6,00,000 तक होती है, परंतु जैसे जैसे काम के अनुभव बढ़ती सैलरी बढ़ना भी सुरु हो जाती है।

सारांश: आज की आर्टिकल में हमने BPT Course Details in Hindi के बारे में बात किये है। जैसे कि BPT क्या होता है, बीपीटी कोर्स की फीस कितनी है, बीपीटी की एडमिशन प्रॉसेस क्या है, बीपीटी की सैलरी कितनी है, बीपीटी के बाद क्या करे, इत्यादि।

हमे विश्वास है आपको यह जानकारी पसंद आई होगी, अगर BPT Course से जुड़े आपका कोई सवाल है तो कमेंट करके पूछिये, आपको कुछ ही घंटों में जवाब मिल जाएगा।

आप कृपया करके इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ फेसबुक और व्हाट्सऐप जैसे सोशल मीडिया पर शेयर करे ताकि उन्हें BPT Course Details के बारे में पता चले।

यदि आप को कोर्स, करियर, बिजनेस और इन्वेस्टमेंट से जुड़े आर्टिकल प्राप्त करना है हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़े। मिलते है अगली पोस्ट में तब तक के लिए धन्यवाद!

यह पढ़े:

अपने दोस्तों से साझा करें

Leave a Reply