MBBS Doctor Kaise Bane: एडमिशन, पढ़ाई, कोर्स फीस, नौकरी, सैलरी

अगर आप एमबीबीएस डॉक्टर बनना चाहते है तो आज की आर्टिकल आपके लिए। इस आर्टिकल में MBBS Course के बारे में बारीकियों से चर्चा करेंगे ताकि MBBS Doctor kaise Bane इसके बारे में आपको पूरी जानकारी मिले।

बचपन में कोई डॉक्टर बनना चाहते तो कोई इंजीनियर लेकिन समय के साथ साथ सपने में बदलाव होना सुरु हो जाते है। ऐसे बहुत कम लोग है जो अपने बचपन के सपने को साकार करते है।

अगर आपका सपना डॉक्टर बनना है वो भी एमबीबीएस डॉक्टर तो इस आर्टिकल को ध्यानपूर्वक पढ़े। इंसमे हम जनेंगे mbbs क्या है, MBBS कैसे करे, एमबीबीएस कोर्स की एडमिशन प्रॉसेस, कोर्स फीस, बेस्ट कॉलेज, सिलेबस, स्कोप, सैलरी, इत्यादि के बारे में।

MBBS Course Details in Hindi

जिन्हें एमबीबीएस कोर्स के बारे में कुछ भी पता नहीं उनके लिए एमबीबीएस क्या है यह जानना बहुत ही जरूरी है।

MBBS kya Hai

एमबीबीएस मेडिकल क्षेत्र का एक ड्रीम कोर्स है जिसका पूरा नाम है Bachelor of Medicine and Bachelor of Surgery (बैचलर ऑफ मेडिसिन एंड बैचलर ऑफ सर्जरी) इंसमे एलोपैथिक चिकित्सा एबं सर्जरी के बारे में बारीकियों से शिक्षा प्रदान की जाती है।

यह साढ़े पांच साल की एक ग्रेजुएशन डिग्री है। जिसमे साढ़े चार साल की पढ़ाई और बाकी एक साल में इंटर्नशीप करना होता अस्पताल से। इंटर्नशिप के दौरान जूनियर डॉक्टर के तौर पर सैलरी सैलरी मिलते है।

एमबीबीएस के डिग्री प्राप्त करने के लिए उम्मीदवारों को 12वी के बाद NEET के एंट्रेंस एग्जाम पास करना होता जिसके रैंक के आधार पर अभ्यर्थियों को एमबीबीएस कोर्स में दाखिला लेने का मौका मिलते है।

वैसे तो इस कोर्स में दाखिला लेने के लिए हर साल लाखों अभ्यर्थी तैयारी करते है लेकिन बहुत ही कम ऐसे खुश नसीब उम्मीदवार होते है जिनके सपने पूरे होता और उन्हें एमबीबीएस डॉक्टर बनने का अवसर मिलते।

साढ़े पांच साल की कोर्स पूरा होने के पश्चात जब एमबीबीएस डॉक्टर बन जाते है तो अभ्यर्थियों के लिए सरकारी तथा निजी अस्पतालों में डॉक्टर बनने का अवसर मिलते है। इसके साथ कोई चाहे तो प्राइवेट क्लिनिक सुरु कर सकते है।

MBBS Doctor बनने के लिए योग्यता

एमबीबीएस डॉक्टर बनने के लिए उम्मीदवारों के पास कुछ विशेष योग्यता होनी चाहिए जो NTA द्वारा तय किया जाता है। इसके लिए सबसे पहले किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10+2 पास करनी चाहिए या उसके समकक्ष कोई योग्यता हासिल करना चाहिए।

अभ्यर्थियों को 10+2 में फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी सब्जेक्ट्स से न्यूनतम 45 प्रतिशत नंबर से पास करना चाहिए। जनरल वर्ग के अभ्यर्थियों के लिए 45 प्रतिशत वही अनुसूचित जनजातियों के लिए कम से कम 40 प्रतिशत नंबर की आवश्यकताएं है।

एमबीबीएस डॉक्टर बनने के लिए NTA द्वरा जो NEET एग्जाम लिया जाता है उंसमे हिस्सा लेने के लिए कम से कम 17 साल की आयु होनी चाहिए। इसके लिए सर्वाधिक आयु की कोई लिमिट नहीं है।

इसके बारे में जाने:

Bsc Nursing Course Details

B pharma Course Details

BMLT Course Details

BBA Course Details

Air hostess kaise Bane

MBBS ke liye Entrance Exam

एमबीबीएस डॉक्टर बनने के लिए पूर्व में अलग अलग नाम से एंट्रेंस एग्जाम लिया जाता था। परंतु आज के समय पूरे देश में एक ही एंट्रेंस एग्जाम होता जिसे NEET एग्जाम से जाने जाते है।

देशभर में नीट का एग्जाम आयोजित किया जाता है नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) द्वारा, यह एक ऑटोनोमस बॉडी। एक एग्जाम में उत्तीर्ण होने के पश्चात रैंक के आधार पर विभिन्न सरकारी तघ निजी मेडिकल कॉलेजों में दाखिला मिलते है।

नीट एग्जाम के पैटर्न और सिलेबस के बारे में हमने आगे चर्चा की है उसके बारे में जानने हेतु पूरा आर्टिकल पढ़े।

MBBS Doctor Kaise Bane

एमबीबीएस डॉक्टर बनने हेतु पूरे लगन से कड़ी मेहनत करना होता तभी डॉक्टर बनने का सपना साकार हो सकता है।

MBBS Doctor Kaise Bane

साइंस शाखा से 12वी कंपलीट करे: एमबीबीएस डॉक्टर बनने हेतु नीट एग्जाम देना होता जिसमे बैठने के लिए न्यूनतम12वी पास करना होता फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी से। इसलिए 10वी के फाइनल एग्जाम होने के पश्चात अभ्यर्थियों को 12वी के लिए फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी (PCB) का चयन करना होता।

एंट्रेंस एग्जाम के लिए एप्लीकेशन फॉर्म भरे: एमबीबीएस कोर्स में दाखिला लेने के लिए NTA द्वारा आयोजित किया गया नीट एग्जाम में उत्तीर्ण होना होता। इसके लिए हर साल एप्लीकेशन फॉर्म छोड़े जाते है।

12वी के पढ़ाई के दौरान ही यह फॉर्म निकली जाती है। जिसे आप नीट के ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर भर सकते है। फॉर्म भरने के https://neet.nta.nic.in/ पर जाए वहां Apply Online का ऑप्शन मिलेगा उस पर क्लिक करके पहले अपना नाम, पिता-माता के नाम, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी बगैरह दर्ज करके रजिस्ट्रेशन कर लीजिए।

रजिस्ट्रेशन के दौरान आपके मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी को वेरीफाई करने के लिए उस पर NTA की ओर से ओटीपी (OTP) भेजा जाएगा। ओटीपी डालकर रजिस्ट्रेशन पूरा कर लेना है।

उसके बाद Apply पर क्लिक करके आपके शैक्षणिक योग्यता और उसके ज़ेरॉक्स कॉपी जैसे 12वी के मार्कशीट, 10वी के एडमिट कार्ड, बगैरह के स्कैन कॉपी सही से अपलोड कर के सबमिट कर देना है और उसके प्रिंट आउट निकालकर अपने पास रख लेना है।

एप्लीकेशन फॉर्म भरते समय ही एप्लीकेशन फीस जमा करना होता General/OBC वर्ग के उम्मीदवारों के लिए ₹1500, General-EWS/ OBC-NCL* के लिए ₹1400 और बाकी SC/ST/PH अभ्यर्थियों के लिए ₹800. पेमेंट्स के लिए नेट बैंकिंग, डेबिट कार्ड, इत्यादि इस्तेमाल कर सकते है।

एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी: एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी पहले सुरु कर देनी चाहिए क्योंकि, इंसमे लाखों स्टूडेंट्स हिस्सा लेते है परंतु कुछ ही लोगों को एमबीबीएस डॉक्टर बनने का मौका मिलता है। इसलिए यदि आप पहले से सोच लिए है कि आपको MBBS Doctor ही बनना है तो 10वी के बाद तैयारी सुरु कर देनी चाहिए।

यानी 11वी और 12वी के पढ़ाई के साथ साथ नीट एग्जाम की भी तैयारी करनी चाहिए इसके लिए आप किसी कोचिंग सेंटर में जॉइन हो सकते है या फिर आज के समय ऑनलाइन बहुत से इंस्टीट्यूट नीट एग्जाम के लिए तैयारी करवाते है उनके साथ भी जुड़कर तैयारी कर सकते है।

नीट एग्जाम के पैटर्न को समझे: किसी भी एग्जाम में उत्तीर्ण होने के लिए सबसे जरूरी पॉइंट है उसके सिलेबस के बारे में बारीकियों से जानना। इस एग्जाम में कुल 180 प्रश्न पूछे जाते है, हर प्रश्न के सही जवाब के लिए 4 नंबर मिलते यानी एग्जाम में कुल 720 नंबर की प्रश्न पूछे जाएंगे।

जिसमे से फिजिक्स 45 अंक, केमिस्ट्री 45 अंक और बाकी 90 अंक बायोलॉजी से (बॉटनी 45 अंक और जूलॉजी 45 अंक) ध्यान रहे इंसमे नेगेटिव मार्किंग भी है, प्रत्येक गलत जवाब के लिए 1 अंक काटा जाएगा।

अच्छे से एग्जाम कंपलीट कीजिये: एग्जाम में सभी ऑब्जेक्टिव टाइप क्वेश्चन (प्रश्न) पूछे जाते है। हर सवाल के चार ऑप्शन रहता है उंसमे से किसी एक सही ऑप्शन रहता उसे चुनना है। एग्जाम के दौरान रक बात ध्यान रहे, जब तक किसी प्रश्न के सही जवाब निश्चित न हो जाये उसे टिक मत लगाए क्योंकि एक गलत जवाब के लिए 1 अंक काट लिया जाएगा।

काउंसलिंग के लिए रजिस्ट्रेशन: एंट्रेंस एग्जाम पूरा होने के कुछ दिन पश्चात रिजल्ट पब्लिश हो जाता है उंसमे नंबर के साथ रैंक नंबर भी दे दिया जाता। जिन अभ्यर्थियों का रिजल्ट अच्छा हुआ और अगर वे काउंसलिंग में हिस्सा लेना चाहते है तो उन्हें काउंसलिंग के लिए रजिस्ट्रेशन करना होगा। ₹1000 देकर काउंसलिंग के लिए रजिस्ट्रेशन करना होता।

काउंसलिंग: रजिस्ट्रेशन पूरा करने के बाद अभ्यर्थी अपने मन पसंद कॉलेज चुन सकते है। कॉलेज को प्रायोरिटी के अनुसार सजाकर काउंसलिंग का प्रॉसेस पूरा करना होता।

एमबीबीएस कोर्स में एडमिशन: अगर रैंक अच्छा होगा तो काउंसलिंग में सरकारी कॉलेज तथा निजी कॉलेजों में शीट मिल जाते है। कुछ फीस जमा करके शीट बुक करना होता उसके बाद एडमिशन फीस भरने के बाद कोर्स में दाखिला लेना होता।

MBBS Course ke Fees

एमबीबीएस कोर्स के फीस की बात करे तो, अगर सरकारी कॉलेज में शीट मिल जाते है तो बहुत ही कम खर्च में कोर्स पूरा हो जाएगा और अगर प्राइवेट कॉलेज से कोर्स करना चाहते है तो लाखों करोड़ रुपये खर्च करने होंगे।

आमतौर पर सरकारी कॉलेज में हर पूरा कोर्स कंपलीट करने के लिए ₹50,000 से ₹1,00,000 रुपये फीस लग जाता है परंतु निजी कॉलेज में ₹65,00,000 से ₹1,00,00,000 तक फीस लग जायेगा।

MBBS Course ke Syllabus in Hindi

साढ़े पांच साल की एमबीबीएस कोर्स में 18 सब्जेक्ट्स पढ़ना होता जो आगे बताया गया है:

  • Anatomy
  • Physiology
  • Psychiatry
  • Pathology
  • Pharmacology
  • Biochemistry
  • Microbiology
  • Ophthalmology
  • Community Medicine
  • Clinical postings in wards
  • Forensic Medicine and Toxicology
  • Pediatrics
  • ENT
  • OPD
  • Anesthesiology
  • Orthopedics
  • Dermatology and Venereology
  • Obstetrics and Gynecology

Year अनुसार एमबीबीएस कोर्स के सब्जेक्ट्स

MBBS 1st Year Subjects

  • Anatomy
  • Physiology
  • Biochemistry

MBBS 2nd Year Subjects

  • Pathology
  • Microbiology
  • Pharmacology
  • Community Medicine
  • Clinical postings in wards
  • Forensic Medicine and Toxicology
  • OPD

MBBS 3rd Year Subjects

  • ENT
  • Ophthalmology
  • Community Medicine

MBBS 4th & final Year Subjects

  • Pediatrics
  • Psychiatry
  • Orthopedics
  • Anesthesiology
  • Obstetrics and Gynecology
  • Dermatology and Venereology

MBBS Course ke Duration (एमबीबीएस कोर्स के समयावधि)

एमबीबीएस कोर्स के समयावधि साढ़े पांच साल (5.5) है। इंसमे से साढ़े चार साल शैक्षणिक पढ़ाई और लास्ट के एक साल इंटर्नशीप करना होता। साढ़े चार साल में कुल 9 सेमेस्टर देना होता जिसके बारे में आगे बताया गया है।

मेडिकल क्षेत्रसमयावधि
Paediatric15 दिन
Ophthalmology15 दिन
Otorhinolaryngology15 दिन
Welfare Planning15 दिन
Casualty1 महीने
Medicine2 महीने
Obstetrics & Gynaecology2 महीने
Surgery including Orthopaedics2 महीने
Community Medicine3 महीने

Best MBBS Colleges in India

  • All India Institute Of Medical Sciences, New Delhi
  • Medical College Kolkata, West Bengal
  • Madras Medical College, Chennai, Tamilnadu
  • Institute of Medical Sciences BHU, Varanasi, Uttar Pradesh
  • Grant Medical College, Mumbai, Maharashtra
  • Dayanand Medical College, Ludhiana, Punjab
  • National Institute Of Mental Health & Neuro Sciences, Bengaluru, Karnataka
  • Stanley Medical College, Chennai, Tamil Nadu
  • R G Kar Medical College and Hospital, Kolkata, West Bengal
  • Rajendra Institute of Medical Sciences, Ranchi, Jharkhand

MBBS ke Baad kya kare (Scope of MBBS)

एमबीबीएस कोर्स के अभ्यर्थियों के लिए कई सारे ऑप्शन होते है, कोई चाहे तो हायर स्टडी कर सकते है। इसके लिए सबसे अच्छा कोर्स है एमडी। अगर कोई चाहे तो नौकरी कर सकते है। एमबीबीएस कोर्स करने के बाद नौकरी के अवसर के बारे में नीचे जान सकते है।

  • सरकारी अस्पताल में डॉक्टर
  • निजी अस्पताल में डॉक्टर
  • नर्सिंग होम में डॉक्टर
  • खुद की प्राइवेट क्लिनिक
  • नॉन-प्रॉफिट ऑर्गनाइजेशन में डॉक्टर
  • पब्लिक सेक्टर कंपनियों में डॉक्टर
  • फार्मास्यूटिकल कंपनी

MBBS ke Baad Salary

एमबीबीएस कोर्स के बाद अच्छे खासे सैलरी मिलते है फिरभी कुछ चीजों के ऊपर सैलरी निर्भर करते है। अगर सरकारी अस्पताल में डॉक्टर बनते है तो सुरुवात में ₹40,000 से ₹45,000 हर माह मिलते है और समय के साथ सैलरी बढ़ते है।

इसके अलावा कोई डॉक्टर चाहे तो सरकारी नौकरी के साथ नर्सिंग होम में चेम्बर कर सकते है या फिर खुद की प्राइवेट क्लिनिक सुरु कर सकते है।

MBBS Course Related FAQs

• मेडिकल कॉलेज में एडमिशन कैसे होता है?

एमबीबीएस कॉलेज में दो तरह से एडमिशन होता है, काउंसलिंग के माध्यम से एडमिशन और डायरेक्ट एडमिशन। दोनों ही मामलों में नीट एग्जाम पास करना होता उसके बाद ही मेडिकल कॉलेज में एडमिशन मिलता है।

• एमबीबीएस का कोर्स कितने साल का होता है?

एमबीबीएस का कोर्स साढ़े पांच साल का होता है जिसमे से साढ़े चार साल की अकादेमी पढ़ाई और एक साल की इंटर्नशीप करना होता। इंटर्नशीप के दौरान अभ्यर्थियों को हर सैलरी भी प्रदान की जाती है।

• इंडियन आर्मी में डॉक्टर कैसे बने?

बहुत से लोगों का सपना है इंडियन आर्मी में डॉक्टर बनना, अगर आपका भी यह सपना है तो उसके लिए सबसे पहले एमबीबीएस के कोर्स करना होगा जिसके बारे में हमने आर्टिकल में बताये है।

उसके बाद इंडियन आर्मी में डॉक्टर के नियुक्ति के लिए फॉर्म निकली जाती है उसे भरना होता उसके सारे प्रॉसेस फॉलो करने के पश्चात नियुक्त कर लिया जाता।

• 12वीं के बाद डॉक्टर कैसे बने?

डॉक्टर बनने के लिए न्यूनतम योग्यता है 12वी पास। 12वी में फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी होनी चाहिए और उंसमे कम से कम 45 प्रतिशत नंबर होना आवश्यक है। इंटरमीडिएट पूरा होने के बाद नीट क्वालीफाई करने होता एवं उंसमे प्राप्त नंबर के आधार पर ही एमबीबीएस कोर्स में दाखिला मिलता।

सारांश: आज की लेख में MBBS Course के बारे में चर्चा की गई है जैसे कि, MBBS क्या है, MBBS Doctor kaise Bane, MBBS कोर्स फीस, एडमिशन प्रॉसेस, नौकरी, सैलरी, इत्यादि।

आपको यह जानकारी कैसी लगी कमेंट सेक्शन में कमेंट करके बताये, 24 घंटे के अंदर आपको जवाब मिल जाएगा। और अगर हमारे लिए कोई सुझाव है तो कमेंट करके अवश्य बताये इससे हम अपने कंटेंट को सुधार सकेंगे।

ऐसे ही जानकारी के लिए हमारे ब्लॉग को सब्सक्राइब करे और हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़े।

यह पढ़े:

IAS kaise Bane

Software engineer kaise Bane

Dentist kaise Bane

Actor kaise Bane

अपने दोस्तों से साझा करें

Leave a Reply