Mushroom ki kheti kaise karen: खेत से बाजार ले जाने तक की जानकारी

अपने दोस्तों से साझा करें

नमस्कार दोस्तों स्वागत हमारे वेबसाइट earningtrika.in आज के आर्टिकल में हम बात करने वाले है mushroom ki kheti kaise karen के बारे में I

मशरूम की खेती भारत में आज की तारीख में है बहुत ज्यादा लोकप्रिय हो गई है इसके अलावा कई लोग मशरूम की खेती के द्वारा अच्छा खासा पैसा भी कमा रहे हैं I

मशरूम की सबसे बड़ी खासियत है कि अगर आपके पास कोई बड़ी जमीन नहीं है तो आप आसानी से अपने घर पर भी मशरूम की खेती कर सकते हैं I

मशरूम की भारत में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी खूब मांग है जिसके कारण हीं अधिकांश लोग mushroom ki kheti करना चाहते हैं लेकिन उसके तरीके और विधि के बारे में नहीं जानते।

अगर ऐसा है आपसे अनुरोध करूंगा कि आप इस आर्टिकल को आखिर तक पढ़े आपको सही प्रकार की जानकारी मिल जाएगी आइए जाने-

आज हम जानेंगे hide

Masroom क्या होता है

masroom एक प्रकार का पोस्टिक आहार होता है I इसके अंदर अनेकों प्रकार के पोषक तत्व विटामिन’ प्रोटीन खनिज लवण पोटेशियम कॉपर आयरन इत्यादि पाया जाता है।

इसका उपयोग अनेकों प्रकार के औषधि को बनाने में किया जाता है I मशरूम के द्वारा पापड़ अचार जैसी चीजें बनाकर कई लोग अच्छा खासा मुनाफा कमाते हैं इस प्रकार पैसे कमाने के तौर पर भी मशरूम की खेती आप कर सकते हैं I

masroom के प्रकार कितने होते हैं

Mushroom ki kheti kaise karen, mushroom ki kheti
mushroom ki kheti

masroom मुख्य तौर पर 5 प्रकार के होते हैं जिनकी खेती भारत में की जाती है उनके बारे में मैं नीचे आपको संक्षिप्त में बिंदु अनुसार विवरण दूंगा आइए जाने –

 बटन मशरूम – बटन मशरूम की खेती करने आपको मुख्य तौर पर 20 से 25 डिग्री तापमान की आवश्यकता पड़ती है इस प्रकार की खेती विशेष तौर पर हवादार घर के कमरे और झोपड़ी में किया जाता है I

आज तारीख में सरकार बटन मशरूम की खेती को बढ़ावा देने के लिए प्रचार और प्रसार कर रही है I

ढींगरी या ऑयस्टर मशरूम – इस प्रकार की मशरूम की खेती आज की तारीख में पूरे भारतवर्ष में तेजी के साथ किया जा रहा हैै I

खेती के लिए 20 से 30 डिग्री तापमान की आवश्यकता पड़ेगी इसके अलावा 70 -90 फीसदी की नमी की जरूरत पड़ती है I आज की तारीख में इस मशरूम की कीमत 150 प्रति किलोग्राम सेे 1000 हजार किलोग्राम तक है I

  दुधिया मशरूम – दूधिया मशरूम की खेती विशेष तौर पर भारत के दक्षिणी भागों किया है I इसकी खेती गर्मी के दिनों में की जाती है I

दूधिया मशरूम की खेती के लिए आपको 25 डिग्री सेेेे लेकर 40 डिग्री सेल्सियस तापमान की आवश्यकताा पड़ती है तभी जाकर दूधिया मशरूम की खेती अच्छी हो पाती है I

इसके अलावा दूधियााा मशरूम के लिए 80- 90 प्रतिशत नमी होनी चाहिए I की तारीख में बाजार में इसकी कीमत 75 रुपए सेे लेकर 100 रुपए प्रति किलोग्राम है I

  पैडीस्ट्रा मशरूम – इस प्रकार की मशरूम की खेती केेेेे लिए 34 से 38 सेंटीग्रेड तापमान 80- 85% नमी की आवश्यकता इस प्रकार के मशरूम में अधिक मात्रा में प्रोटीन विटामिन खनिज लवण दूसरे अन्य पोषक तत्व पाए जाते है आज की तारीख में

शिटाके मशरूम – इस प्रकार के मशरूूम का प्रयोग विशेष तौर पर औषधि बनाने में किया जाता है I इस मशरूम की कीमत भी काफी अधिक है और इसकेे अंदर विटामिन प्रोटीन और दूसरे अन्य पोषक तत्व पाए जाते हैं I

इसे पढ़े:

masroom के बीज कीमत कितनी होती है

मशरूम के बीजों की कीमत आज की तारीख में भारत में ₹70 से ₹80 प्रति किलोग्राम की दर से मिलती है I इसकी कीमत में बढ़ोतरी और कमी कुल मिलाकर ब्रांड और कंपनी के ऊपर निर्भर करता है।

सबसे महत्वपूर्ण बात की आपको उन्नत किस्म का मशरूम की खेती के लिए बीच का चयन करना चाहिए इससे आप उन्नत किस्म के मशरूम की खेती कर कर अच्छा खासा मुनाफा कमा सकते हैं I

मशरूम को कहां बेच सकते हैं

मशरूम को आप कई प्रकार के दवाई बनाने वाले कंपनियों को sell कर सकते हैं इसके अलावा आप चाहे तो मशरूम का निर्यात आप दूसरे देशों में भी कर सकते हैं।

क्योंकि विदेशों में भी इसकी डिमांड अच्छी खासी है I जहां पर आप तो मशरूम को बेचकर अच्छा खासा मुनाफा कमा सकते हैं I

इसके अलावा आप चाहे तो ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर भी अपनी मशरूम को बेच सकते हैं I इस प्रकार हम कह सकते हैं कि मशरूम का क्षेत्र व्यापक है, और आप इसे कहीं पर भी sell कर सकते हैं I

Masroom की खेती करने में कितना खर्चा आएगा

मशरूम की खेती करने में कितना खर्चा आएगा या बात कुल मिलाकर इस बात पर निर्भर करती है कि आप किस पैमाने पर इसकी खेती करना चाहते हैं अगर आप छोटे पैमाने पैसे खेती करते हैं तो आपको यहां पर ₹10000 का निवेश करना पड़ेगा I

इसके विपरीत अगर आप बड़े पैमाने पर इसकी खेती करते हैं तो आपको यहां पर ₹100000 से लेकर ₹400000 का आपको यहां पर निवेश करना पड़ेगा I

मशरूम की खेती कहां की जा सकती है

मशरूम की खेती करने के लिए मौसम का विशेष ध्यान रखना पड़ता है इसके लिए विशेष तौर पर 30 से 40 डिग्री तापमान की आवश्यकता होती है ।

मशरूम के अधिकांश खेती अप्रैल महीने से लेकर अक्टूबर के बीच में की जाती है I इसके अलावा मशरूम के लिए 80 फ़ीसदी नमी की आवश्यकता पड़ती है I

मशरूम की खेती के लिए कितनी जगह की आवश्यकता पड़ेगी

मशरूम की खेती दूसरे फसल की तरह खेत में नहीं की जाती है बल्कि इसके लिए घर के अंदर छप्पर बनाया जाता है और वहां इसका उत्पादन किया जाता है I इसके लिए आपको 30×15 या 25×50 वर्ग फीट की जगह की आवश्यकता पड़ती है I

इसके अलावा आप घर के कमरे में भी इसकी खेती कर सकते हैं लेकिन आपको इस बात का ध्यान देना होगा कि घर की खिड़कियां हमेशा बंद होनी चाहिए जरूरत पड़े तो आप खिड़कियों को थोड़े समय के लिए खोल सकते हैं।

लेकिन ज्यादा समय कृपया खुल कर ना रखे हैं इससे मशरूम की फसल खराब होने की संभावना होती है I

Mushroom ki kheti kaise karen पूरी प्रक्रिया

उनकी खेती करने के लिए आपको निम्नलिखित प्रक्रियाओं का पालन करना होगा जिसके बारे में मैं आपको नीचे बिंदु अनुसार जानकारी दूंगा-

कंपोस्ट खाद का निर्माण करना

मशरूम की खेती करने के लिए सबसे पहले आपको कंपोस्ट खाद का निर्माण करना होगा कंपोस्ट खाद बनाने के लिए आप गेहूं और धान के भूसे इस्तेमाल कर सकते हैं।

सबसे अहम बात है सबसे पहले आपको धान और गेहूं के भूसे को कीटाणु और बैैक्टीरिया रहित बनाने के लिए आपको इसका शुद्धिकरण करने के लिए केमिकल तत्वों का इस्तेमाल करना होगा।

सबसे पहले आपको में 1.5 किलोग्राम फार्मलीन एवं 150 ग्राम बेबिस्टीन को 1500 लीटर पानी में मिलाना होगा I इसके बाद इसी में पानी में आप 50 किलो भूसा और कुंतल मिलााकर आपको 30 मिनट से लेकर 1 घंटे तक इस को ढक कर रखना है I

आप ढक्कन हटाएंगे जब इसका रंग हल्का लाल हो जाएगा इस प्रकार आपका कंपोस्टट खाद बनकर तैयार हो जाएगा द द

  • अमोनियम सल्फेट अथवा कैल्सियम अमोनियम नाइट्रेट – 9 किलोग्राम
  • म्यूरेट ऑफ़ पोटाश या पोटेशियम सल्फेट – 3 किलोग्राम
  • बेंजीन हेक्साक्लोराइड BHC 10% – 250 ग्राम
  • जिंक सल्फेट – 100 ग्राम
  • गेहूं धान का भूस 300
  • सरसों का भूसा – 300 किलोग्राम
  • गेंहू का चोकर,व लकड़ी का बुरादा  – 30 किलोग्राम
  • मुर्गी की खाद – 60 किलोग्राम
  • शीरा – 5 लीटर
  • जिप्सम – 30 किलोग्राम

इस प्रकार आप ऊपर बताए गए चीजों को मिलाकर कंपोस्ट खाद बना सकते हैं I

मशरूम की बुवाई करना

आपका कंपोस्ट खाद बनकर तैयार हो जाए तब आपको मसरूम की बुवाई करनी होगी इसके लिए आपको मशरूम के भूसे को खुले जगह पर आपको रखना होगा जहां पर हवा आने की संभावना अधिक हो इससे भूसे में में जो नमी की मात्रा है उसे कम किया जा सकता है I

अब आप पॉलिथीन के बैग के अंदर भूसा डालेंगे और फिर आप उसके ऊपर मशरूम के बीज को डाल देंगे आपको इस प्रकार की प्रक्रिया तीन से चार बार करनी होगी I

सबसे अहम बात पॉलिथीन के बैग के दोनों तरफ आपको छेद करना होगा ताकि के अंदर भूसा के अंदर जो पानी की मात्रा अधिक है उसे कम किया जा सके I

एक बात का ध्यान आप जरूर रखिएगा कि आप जितने भी यह पॉलिथीन के बैग उनमें भूसा और बीज का अनुपात हमेशा एक समान होना चाहिए I तभी जाकर आपकी मशरूम की फसल अच्छी हो पाएगी I

बुवाई की प्रक्रिया समाप्त होने के बाद आप पॉलिथीन के बैग में छोटे-छोटे छेद कर देंगे जिससे मशरूम के पौधे बाहर निकल सके किताब से भर

मशरूम के थैले को रखने का तरीका क्या है

मशरूम के थैले को रखने के लिए आप अपने घर में लोहे या लकड़ी के द्वारा shade का निर्माण करना होगा ताकि आप आसानी से मशरुम के बैग को सही ढंग से वहां पर रख सके I

इसके अलावा आप चाहे तो अपने घर में रस्सी के द्वारा थैलों को अच्छी तरह से बांधकर लटका सकते हैं I

मशरूम के फसल की कटाई की समय अवधि क्या है

मशरूम केेेे फसल की कटाई की समय अवधि के बारे में बात करें तो बड़े-बड़े कृषि विशेषज्ञ का कहना है कि मशरूम की फसल की कटाई 30 से 40 दिनों के अंदर करनी चाहिए।

क्योंकि अगर किस की कटाई में आप देर करते हैं तो मशरूम की फसल बर्बाद हो सकती है इसलिए हमेशा आप दिए गए निर्धारित समय अवधि के अनुरूप ही मशरूम की कटाई करें I

मशरूम की खेती शुरू करने के लिए सरकारी योजना क्या है

मशरूम की खेती को प्रोत्साहित करने के लिए सरकार ने सरकारी योजना की शुरुआत की है इसके माध्यम से आपको सरकार सब्सिडी भी देगी ताकि आप आसानी से मशरूम की खेती कर सकें।

अगर आप महिला हैं तो आपको 50% की सब्सिडी सरकार की तरफ से दी जाएगी इसके विपरीत पुरुषों को यहां पर 40% की सब्सिडी प्रदान की जाएगी I

सबसे महत्वपूर्ण बात की सरकार आपको यहां पर मशरूम की खेती करने के लिए ₹500000 से लेकर ₹1000000 का लोन प्रदान करेगी इसके बारे में अगर आप जानकारी हासिल करना चाहते हैं तो आप अपने नजदीकी कृषि विज्ञान केंद्र में जाकर संपर्क कर सकते हैं I

इसके अलावा आप किसी भी कृषि बैंक में जाकर लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं वहां पर आपको आसानी शर्तो पर लोन भी मिल जाएगा I

मशरूम की खेती के लिए सरकारी मदद कहां से प्राप्त करेंगे

मशरूम की खेती को प्रोत्साहित करने के लिए नबार्ड, राष्ट्रीय बागवानी बोर्ड और बैंक द्वारा मशरूम उत्पादन इकाई, स्पॉन उत्पादन इकाई और खाद बनाने की इकाई लगाने के लिए ऋण प्रदान करते हैं।

इसके अलावा अन्य प्रकार के कृषि बैंक के जहां से आपको मशरूम की खेती करने के लिए कम ब्याज दर पर लोन भी मिल सकता है I

मशरूम की खेती की ट्रेनिंग के लिए सरकार आप को देगी प्रशिक्षण

मशरूम की खेती के लिए सरकार आपको 14 दिनों का प्रशिक्षण देंगे जिसमें आपको मशरूम की खेती से जुड़े हुए सभी अहम पहलुओं के बारे में विस्तार पूर्वक आपको जानकारी दी जाएगी I

ताकि आप आसानी से मशरूम की खेती कर सके I मशरूम की खेती के अगर आप ट्रेनिंग देना चाहते हैं

आप निम्नलिखित संस्थान में लाकर द-कर इसका प्रशिक्षण प्राप्त कर सकते हैं उनके बारे में मैं आपको नीचे बिंदु अनुसार बता रहा हूं –

  • ICAR- खुम्ब अनुसंधान निदेशालय, सोलन (हिमाचल प्रदेश
  • महाराणा प्रताप कृषि व तकनीकी विश्वविद्यालय, उदयपुर, राजस्थान
  • पंजाब कृषि विश्वविद्यालय, लुधियाना, पंजाब
  • नारायण देव कृषि व तकनीकी विश्वविद्यालय, फैजाबाद, उत्तर प्रदेश
  • इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय, रायपुर, छत्तीसगढ़
  • बागवानी व कृषि वानिकी अनुसंधान कार्यक्रम, रांची, झारखंड
  • मध्य प्रदेश कृषि विश्वविद्यालय राहुरी, पुणे, महाराष्ट्र
  • चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय, हिसार, हरियाणा
  • राजेंद्र कृषि विश्वविद्यालय, पूसा, बिहार
  • उड़ीसा कृषि विश्वविद्यालय, भुवनेश्वर, उड़ीसा
  • गोविंद बल्ब पंत कृषि व तकनीकी विश्वविद्यालय, पंतनगर, उत्तराखंड
  • भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद, वारापानी, मेघालय
  • तमिलनाडु कृषि विश्वविद्यालय, कोयम्बटुर, तमिलनाडु
  • केरल कृषि विश्वविद्यालय, त्रिचूर, केरल
  • केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय, पासीघाट. अरुणाचल प्रदेश
  • हरियाणा एग्रो-इंडस्ट्रीयल कॉरपोरेशन आर एंड डी सेंटर, मुरथल, सोनीपत, हरियाणा

ऊपर बताए गए सभी संस्थानों में समय-समय पर मशरूम की खेती करने का आपका प्रशिक्षण यहां पर दिया जाता है I यहां पर आवेदन कर कर आसानी से मशरूम की खेती करने का प्रशिक्षण प्राप्त कर सकते हैं I

मशरूम की खेती के प्रशिक्षण के लिए आवेदन कैसे करें

  • यहां पर आपको मशरूम की खेती के प्रशिक्षण के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी मिल जाएगी और आवेदन पत्र भी I अब आपको अपना आवेदन पत्र भरना होगा I
  • इसके अलावा आप संस्थान में भी जाकर अपना आवेदन पत्र भरकर जमा कर सकते हैं, लेकिन अगर आप चाहते हैं कि ऑनलाइन आवेदन करना है तो ऊपर जो मैंने आपको तरीका बताया है उसका इस्तेमाल करें I

कई सारे निजी संस्थान के कॉलेज है. जहां मशरूम की खेती के बारे में प्रशिक्षण दिया जाता है I लेकिन उसके लिए आपको वहां पर पैसे देने होंगे इसलिए आप सरकारी संस्थान में ही इसकी ट्रेनिंग प्राप्त करें ताकि मुफ्त में इसका प्रशिक्षण प्राप्त कर पाए I

मशरूम बिक्री और मार्केटिंग कैसे करें

मशरूम को बिक्री करने के लिए आप अपने लोकल मार्केट टारगेट कर सकते हैं इसके अलावा बहुत सारे मशरूम खरीदने वाले डिस्ट्रीब्यूटर होते हैं उनको भी आप मशरूम बेचकर अच्छा खासा मुनाफा कमा सकते हैं।

इसके अलावा चाहे तो आप अपने मशरूम को ऑनलाइन बेच कर भी पैसे कमा सकते हैं। लोकल मार्केट में आप विज्ञापन के द्वारा उसकी मार्केटिंग कर सकते हैं इस प्रकार कुछ दिनों के अंदर अच्छा खासा मुनाफा कमाने लगेंगे I

ऑनलाइन मार्केट में मशरूम के अचार और पापड़ की आज की तारीख में काफी डिमांड है आप इसे भी सेल कर सकते हैं I

कमाई कितनी होगी

मशरूम की खेती अगर आप 100 वर्ग फीट पर करते हैं तो आप आसानी से ₹100000 से लेकर ₹500000 पैसे कमा सकते हैं।

आपकी आमदनी कुल मिलाकर इस बात पर निर्भर करती है कि आप इसका उत्पादन कितना कर रहे हैं और किस तकनीक के द्वारा आप इसकी खेती करें उसके ऊपर ही आप के पैसे कमाने की क्षमता निर्भर करती है I

पर हम कह सकते हैं कि मशरूम की खेती के द्वारा आप अच्छा खासा पैसा कमा सकते हैं I

conclusion: उम्मीद करता हूं कि आपको Mushroom ki kheti kaise karen आर्टिकल पसंद आया होगा अगर पसंद आए तो इसे शेयर करना ना भूले।

और अगर आपका कोई भी सवाल है तो मेरे कमेंट बॉक्स में पूछे मैं उसका उत्तर देने के लिए सेवा में उपस्थित रहूंगा तब तक के लिए धन्यवाद और मिलते हैं अगले आर्टिकल में I

इसे पढ़े:

अपने दोस्तों से साझा करें

Leave a Reply