Medical Store Kaise Khole पूरा प्लान समझे आसान तरीके से

कोरोना के लहर आने के बाद लोगो को मेडिकल बिजनेस का महत्व अच्छे से समझ आने लगे है। तभी ज्यादातर लोग अपना खुद का मेडिकल स्टोर खोलने के बारे में सोच रहे है।

लेकिन उन्हें यह जानकारी नहीं है कि Medical store kaise khole, क्या मेडिकल स्टोर कोई भी खोल सकते है, खोलने के लिए क्या दस्तावेज चाहिए, कितना लागत लगेगा, और कमाई कितनी होगी? इत्यादि।

अगर आपके मन मे भी यह सारे सवाल है तो इस आर्टिकल को ध्यानपूर्वक आखिरी तक पढ़े क्योंकि, मैं एक फार्मासिस्ट होने के नाते मुझे पूरे विस्वास है की मैं आपको इस विषय मे अच्छे से मार्गदर्शन करा सकता हूं।

आपको बता दे, आज के समय लोगों के हालात ऐसे हो गया है कि वह बिना खाने के तो कुछ दिन ज़िंदा रहे सकते है परंतु बिना दवाई के नहीं। इसलिए युवा वर्ग में मेडिकल स्टोर लेकर उत्सुकता बढ़ रहे है।

लेकिन यह बिजनेस हर किसी के लिए नहीं, इसके लिए कुछ चोज़ो की खास आवश्यकता होती है। क्योंकि दवाई सीधा इंसानों के जिंदगी के साथ जुड़ा हिया है। थोड़े से भी लापरवाही किसी के भी जान ले सकते है।

इसलिए Medical Store सुरु करने वालो के लिए सरकार द्वारा कुछ प्रावधान तय किया गया है। ताकि लोगों को सुरक्षित रखा जाये।

इसे पढ़े: एक सक्सेसफुल बिजनेस कैसे सुरु करे

Medical Store Kaise Khole

तो आइये सुरु करते है आज की आर्टिकल और आपको बताते है कि मेडिकल स्टोर कैसे खोलते है और यह व्यापार कौन सुरु कर सकते है।

Medical store kaise khole, medical shop kaise khole, how to open medical store in hindi
Medical Store Kaise Khole

Medical Store kya Hai

हमे नहीं लगते की ऐसे कोई व्यक्ति है जिन्हें यह मालूम नहीं कि मेडिकल स्टोर क्या है फिरभी इसके बारे में छोटा सा जानकारी दे दूं, मेडिकल आम दुकान की तरह ही है। बस खास बात है कि यहां सिर्फ स्वास्थ्य से जुड़े चीज़ मिलते है। जैसे कि दवाई, सप्पलीमेंट, और कुछ मेडिकल इक्विपमेंट, इत्यादि।

जब कोई व्यक्ति बीमार होते है तो वह सबसे किसी डॉक्टर के पास जाते है। और डॉक्टर मरीज को एक पर्ची देती है जिसे प्रेस्क्रिप्शन कहते है जिसमे दवाई के नाम लिखा हुआ होता।

मरीज उस प्रेस्क्रिप्शन को लेकर एक खास तरह के शॉप में जाते है जहां उन्हें दवाई मिलते। दुकान पे उस पर्ची दिखाने के बाद उन्हें दवाई मिलते है और साथ मे उन्हें काउन्सलिंग भी किया जाता है। इस तरह के दुकान को ही मेडिकल स्टोर या फार्मेसी शॉप भी कहते है।

यहां पे आप पर्ची के साथ साथ बिना पर्ची के कुछ दवाई भी ले सकते है। लेकिन ऐसे दवाई की संख्या बहुत कम है। अब आइये जानते है मेडिकल स्टोर कितने प्रकार के होते है और वह क्या क्या है।

इसे पढ़े: बेस्ट Manufacturing Business Ideas Hindi में पढ़े

Types of Pharmacy Business (फार्मेसी बिजनेस के प्रकार)

मुख्यतः फार्मेसी बिजनेस चार तरह के होते है। जैसे, हॉस्पिटल फार्मेसी, स्टैंडअलोन फार्मेसी, चैन फार्मेसी, टाउनशिप फार्मेसी।

हॉस्पिटल फार्मेसी: जो भी मेडिकल स्टोर अस्पताल के क्षेत्र में होते है उसे ही हॉस्पिटल फार्मेसी कहते है। खासकर इस तरह के मेडिकल स्टोर अस्पतालों के मरीजों के लिए तैयार किया जाता है।

स्टैंडअलोन फार्मेसी: ऐसे मेडिकल स्टोर खासकर रिहायशी क्षेत्र और लोकैलिटी में होते है। हमारे देश मे इस तरह के मेडिकल स्टोर सबसे प्रसिद्ध है।

चैन फार्मेसी: मुख्यतः ऐसी फार्मेसी कोई कंपनी द्वारा चलाई जाते है जिसके कई सारी ब्रांच मिलेगी बड़े बड़े शहरों के शॉपिंग मॉल, कॉम्प्लेक्स, आदि में।

टाऊनशिप फार्मेसी: जो भी फार्मेसी टाऊनशिप क्षेत्र में स्थित होते है उसे ही टाऊनशिप फार्मेसी या टाऊनशिप मेडिकल स्टोर कहते।

इसे पढ़े: पेपर प्लेट बनाने का बिजनेस

Medical Store कैसे खोले

आप दो तरीके से मेडिकल स्टोर खोल सकते है। पहला है, रिटेल मेडिकल स्टोर और दूसरा है, व्होलसेल मेडिकल स्टोर। आज की इस आर्टिकल हम रिटेल मेडिकल स्टोर कैसे सुरु करे उसके बारे में बात करेंगे।

रिटेल बिजनेस सुरु करने के लिए आपके पास सबसे पहले रिटेल ड्रग लाइसेंस होनी चाहिए। यह लाइसेंस सिर्फ रजिस्टर फार्मासिस्ट को ही जारी किया जाता है।

इसलिए यदि कोई फार्मेसी बिजनेस सुरु करना चाहते तो उन्हें डी फार्मा, या बी फार्मा, या फिर एम फार्मा करना होता।

Medical Store ke Liye Qualification

D pharma: यह एक डिप्लोमा कोर्स है जिसके समयावधि है दो साल। अगर कोई मेडिकल स्टोर खोलना  चाहते तो सबसे बेहतर है डी फार्मा कर लेना। इस कोर्स के बारे में डिटेल्स जानने के लिए यहां क्लिक करके पढ़े: D pharma क्या है

B pharma: बी फार्मा चार साल की डिग्री कोर्स है। अगर कोई मेडिकल स्टोर सुरु करना चाहते या फिर बड़े बड़े प्रोडक्शन कंपनियों में काम करना चाहते तो बी फार्मा बेस्ट होगा। अगर कोई इसके बारे में बारीकी से जानना चाहते है तो यहां क्लिक करके पढ़े: B pharma क्या है और कैसे करे

M pharma: एम फार्म एक पोस्टग्रेजुएट डिग्री है जिसे बी फार्मा के बात कर सकते है। एम फार्मा के बारे जानने के लिए इस आर्टिकल को पढ़े: M pharma क्या है

जैसे ही आपके कोर्स पूरा हो जाये सारे दस्तावेजों के साथ आप अपने राज्य के फार्मेसी काउंसिल के साथ संपर्क करें। वहां पे सारे दस्तावेजों की वेरीफाई होने के पश्चात आपको रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट दे दिया जाएगा।

जैसे ही रजिस्ट्रेशन मिले, सारे दस्तावेजों के साथ ऑनलाइन ड्रग लाइसेंस के लिए आवेदन करना होगा।

Drug License ke Types

मेडिकल स्टोर खोलने के लिए दो तरह के ड्रग लाइसेंस उपलब्ध है। पहला है, रिटेल ड्रग लाइसेंस और दूसरा है, व्होलसेल ड्रग लाइसेंस।

इसे पढ़े: LED Bulbs बिजनेस सुरु करे

रिटेल ड्रग लाइसेंस: अगर कोई व्यक्ति रिटेल मेडिकल शॉप सुरु करना चाहते तो उन्हें रिटेल ड्रग लाइसेंस के लिए आवेदन करना होगा। आवेदन के दौरान कुछ रुपये भुगतान करना होगा। हर राज्य के लिए यह फीस अलग हो सकता है।

ध्यान रहे लाइसेंस उन्ही के नाम से जारी होगा जिनके पास कोई भी फार्मेसी डिग्री है। बिना फार्मेसी डिग्री के कभी भी ड्रग लाइसेंस मिलते।

Note: ऐसे बहुत दलाल है जो लोगो को इस बात से ठगते है कि, बिना फार्मेसी डिग्री के वह आपको ड्रग लाइसेंस दिल सकते। मेरी मानो ऐसा होता नहीं, यह पूरी तरह से अवैध है पकड़ जाने पर जेल और जुर्माना दोनों होगा।

व्होलसेल ड्रग लाइसेंस: यह लाइसेंस व्होलसेलर के लिए जारी किया जाता है। यानी जो लोग थोक मेडिसिन विक्रेता उनके लिए। इस लाइसेंस के लिए अधिक रुपये भुगतान करना होता।

Drug License के लिए जरूरी दस्तावेज

ड्रग लाइसेंस के लिए अप्लाई करने से पहले इन दस्तावेजों की आवश्यकता होगी:

• एप्लीकेशन फॉर्म

• फार्मासिस्ट रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट

• फार्मासिस्ट के वोटर आईडी

• फार्मासिस्ट के आधार कार्ड

• फार्मासिस्ट के पासपोर्ट साइज फ़ोटो कॉपी

• ट्रेड लाइसेंस

• अगर रूम रेंटल हो तो उसके एग्रीमेंट

• खुद का रूम है तो उसके प्रमाणपत्र

• नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट (अगर रेंटल है तो)

• स्थान तथा रूम का ब्लूप्रिंट

• फार्मासिस्ट अपॉइंटमेंट लेटर

• पैन कार्ड (इसे पढ़े: PAN Card कैसे बनाये)

• फार्मासिस्ट के एफिडेविट

• इलेक्ट्रिक बिल

• रेफ्रीजरेटर के बिल पेपर

इन सारे दस्तावेजों के अलावा कुछ राज्य में और भी कुछ दस्तावेजों की मांग की जाती है। उसके बारे में जानने के लिए आप अपने नजदीकी ड्रग कंट्रोल ऑफिस में जाकर संपर्क करें।

इसे पढ़े: घर बैठे पैकिंग करके पैसे कमाए

Medical Store के लिए जगज का चुनाव

हर बिजनेस के सक्सेस के पीछे जगह एक अहम भूमिका पालन करते है। हमेशा कोशिश करे किसी मार्केट में जहां लोगों का आना जाना अधिक है वहा पर ही मेडिसिन शॉप सुरु करने का।

इसके अलावा आपको बता दूं, मेडिकल स्टोर खोलने के लिए सरकार द्वारा तय किया गया है कि न्यूनतम 120 स्क्वायर फीट की रूम होनी चाहिए। और जिस भी रूम में आप दुकान सुरु करेंगे उंसमे कोई खिड़की नहीं होनी चाहिए।

Medical Store के लिए कहां से माल लेंगे

खुदरा मेडिसिन विक्रेता दो जगह से मेडिसिन ले सकते है। पहला है, थोक मेडिसिन विक्रेता यानी wholesaler, दूसरा है सीधा मेडिसिन मैन्युफैक्चरिंग कंपनियों से।

लेकिन खुदरा विक्रेताओं के लिए कंपनी से सामान लेना थोड़ा कठिन हो जाते है क्योंकि कंपनी हमेशा बड़े आर्डर लेते है जो रिटेल विक्रेताओं के लिए आसान नहीं होता।

इसलिए ज्यादातर रिटेल व्यवसायी थोक विक्रेताओं से सामान मंगवाते है। यहां उन्हें कभी कभी थोड़ा उधारी भी मिल जाते है। तभी थोक विक्रेताओं से सामान लेना लोग पसंद करते है।

Medical Store सुरु करने का लागत

मेडिकल शॉप सुरु करने की लागत देखा जाए तो जगह के ऊपर निर्भर करेगी। यदि आप गांव मे सुरु करेंगे तो इन्वेस्टमेंट कम लगेगा और अगर आप कोई मेट्रोपोलिटन क्षेत्र में खोलेंगे अच्छी खासी इन्वेस्टमेंट करने होंगे।

इसे पढ़े: गांव में करने वाले बिजनेस

यदि एवरेज लागत की बात करे तो गावं में लगभग 3 से 4 लाख रुपये खर्च होगा और शहरों में 6 से 8 लाख लागत लग जायेगा।

Medical Store से कमाई कितना होगा

मेडिकल स्टोर की बिजनेस लाखो कमाने की बिजनेस है फिरभी यह कहना मुश्किल है की आप कितना कमाएंगे। क्योंकि कमाई पूरी तरह से आपके ऊपर निर्भर करेगा। जैसे कि आप कैसे सेल करेंगे, क्या स्ट्रेटजी अपनाएंगे, कहां पर आपके दुकान है, इत्यादि।

फिरभी यदि कमाई की बात करे तो लागभग 25,000 से 50,000 रु तक आसानी से कमाया जा सकता। आपको बता दे, अधिक कमाई के लिए सेल बढ़ाना होगा। सेल बढ़ाने के लिए आगे बताई गई स्टेप्स फॉलो करें।

FAQs

• Medical Store के लिए जरूरी चीज़े

मेडिकल स्टोर सुरु करने के लिए इन चीज़ों की आवश्यकता होगी इन चीज़ों के बिना शॉप सुरु करना संभव ही नहीं:

1. रजिस्टर फार्मासिस्ट: सबसे पहले आपके पास फार्मेसी के किसी भी डिग्री होने चाहिए। इस डिग्री के अलावा आप मेडिकल स्टोर की सुरुवात नहीं सकते।

यदि आप एक फार्मासिस्ट नहीं है परंतु मेडिकल स्टोर के बिजनेस करना चाहते तो आपको एक फार्मासिस्ट नियुक्त करने होंगे। उस फार्मासिस्ट के नाम से ड्रग्स लाइसेंस बगैरह बनाने होंगे जब जाकर बिजनेस सुरु कर सकेंगे।

2. इंफ्रास्ट्रक्चर: मेडिसिन सही से रखने के लिए सही तरीके से इंफ्रास्ट्रक्चर बनाना होगा। इसमें स्टोर कॉर्नर रैक, छोटे छोटे बॉक्स, कंप्यूटर, चेयर, टेबल, इत्यादि।

3. रेफ्रीजरेटर: कुछ ऐसे मेडिसिन, वैक्सीन, इंजेक्शन आदि है जिसे स्टोर करने के लिए कम तापमान की जरूरत है। इसलिए रेफ्रीजरेटर अवश्य खरीदना होगा।

• मेडिकल स्टोर खोलने के लिए कौन से डिग्री चाहिए?

मेडिकल शॉप सुरु करने के लिए रजिस्टर्ड फार्मासिस्ट होनी चाहिए। आप चाहे तो डी फार्मा या बी फार्मा करके अपना व्यापार सुरु कर सकते है।

• क्या कोई बिना फार्मेसी डिग्री के मेडिकल स्टोर सुरु कर सकते है?

अगर कोई व्यक्ति बिना फार्मेसी रजिस्ट्रेशन के मेडिसिन शॉप सुरु करते है तो यह पूरी तरीके से अवैध होगी। पकड़े जाने पर कड़ी से कड़ी सजा मिलेगा जेल के साथ जुर्माना भी होंगी।

परंतु हां, यदि कोई व्यक्ति रजिस्टर्ड फार्मासिस्ट नियुक्त करके अपना बिजनेस चलाते है तो उन्हें कुछ समस्याएं नहीं होगा।

• क्या डॉक्टर मेडिकल शॉप खोल सकते है?

नहीं, कोई डॉक्टर किसी भी कीमत पर बिना रजिस्टर फार्मासिस्ट के मेडिकल स्टोर खोल नहीं सकते। अगर कोई ऐसा करते है तो कानूनी तौर पर अवैध होगी और सजा भी मिलेगा।

इसे पढ़े:
मसाला बिजनेस कैसे सुरु करे
• 100 Business ideas hindi
मोबाइल रिचार्ज बिजनेस कैसे करे
पतंजलि स्टोर कैसे खोले

Conclusions: आज हिमने मेडिकल स्टोर सुरु करने के बारे में बताये है। ताकि मेडिकल स्टोर सुरु करने में आपको कोई परेशानी न आये।

हमे पूरे विश्वास है आपको समझ आ गए ही कि Medical store किसे खोले, इसमें कितना लागत लगेगा, क्या दस्तावेजों की जरूरत है, कमाई कितनी होगी, इत्यादि।

आशा करते है आपको यह जानकारी पसंद आये होंगे अगर कोई सवाल या सुझाव है तो कमेंट करके बताये। इससे हमे अपने कंटेंट को सुधारने में सहायता मिलेगी।

कृपया आप अपने दोस्तों के साथ इस आर्टिकल शेयर करे और ऐसे शानदार जानकारी के लिए हिमारे ब्लॉग को सब्सक्राइब करे।

मिलते है अगले पोस्ट में। धन्यवाद!

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *