Menu Close

B pharmacy course details in hindi – बी फार्मा क्या है?

क्या आप B pharm करके फार्मेसी में अपनी करियर बनाना चाहते है?

अगर हां तो यह आर्टिकल आपके लिए है क्योंकि, हम आज B Pharamcy course details in hindi के बारे में बताने वाले है।

मैं वादा करता हूं, यह आर्टिकल पढ़ने के बाद आपके मन में, बी फार्मा से समन्धित जितने भी सवाल है जैसे:

B pharma kya hai और कैसे करें? इसके लिए योग्यता क्या है? B pharma ki fees kitni hai?

कौन सा एंट्रेंस एग्जाम देना होगा? b pharma के बाद क्या करें? इत्यादि सवालों के जवाब मिल जाएगा।

B pharmacy course details in hindi, b pharma kaise kare, b pharma kya hai
B pharmacy course details in hindi

12 th क्लास पूरा होने के बाद, आगे की पढ़ाई को लेकर स्टूडेंट्स के मन मे ढेर सारे सवाल पैदा होते है।

उन्हें समझ नहीं आते की उनके लिए कौन सा कोर्स अच्छा है और कौन सा नहीं।

और कहीं न कहीं यह लाजमी भी है क्योंकि, अभी के समय एक अछि जॉब पाना बहुत मुश्किल हो गया है।

लेकिन फार्मेसी एक ऐसी क्षेत्र है जिसका डिमांड कभी भी खत्म नहीं होगा। जितने दिन जाएगा उतने इसके मांग बढ़ती ही रहगी

क्योंकि, इसका समंध सीधा लोगो के स्वास्थ्य के साथ जुड़े है।

जब भी कोई ब्यक्ति बीमार होते है तब उन्हें डॉक्टर्स और फार्मासिस्ट, दोनों के ही जरूरत पड़ते है।

इस बातों से आपको अंदाजा हो रहा होगा की बी फार्मा की भविष्य कितना है।

मैं एक फार्मासिस्ट होने के नाते आपको कह सकता हूं,

अगर आप कम समय मे अपनी उज्ज्वल भविष्य बनाना चाहते है तो B pharma आपके लिए एक बेहतरीन ऑप्शन हो सकता है।

आइए शुरू करते है आज की आर्टिकल और बताते है की B pharma kaise kare.

आज हम क्या जानेंगे:

  1. फार्मेसी क्या है?
  2. बी फार्म क्या है?
  3. बी फार्म के लिए क्या योग्यता चाहिए?
  4. इसके लिए कौन सा एंट्रेंस एग्जाम देना होगा?
  5. कोर्स के अवधि कितना है?
  6. बी फार्मा कोर्स के फीस कितनी है?
  7. बी फार्मा की सब्जेक्ट क्या है?
  8. बी फार्मेसी के लिए टॉप कॉलेज कौनसी है
  9. बी फार्मा के बाद क्या करे?
  10. बी फार्म के बाद सैलरी।

B pharmacy course details in hindi – बी फार्मा क्या है?

बी फार्मा क्या है यह जानने से पहले हमे जानना जरूरी है फार्मेसी क्या है?

1. फार्मेसी क्या है:

फार्मेसी चिकित्सा विज्ञान की एक ऐसी शाखा है जहां दवाओं के बारे में सिखाया और पढ़ाया जाता है।

जैसे की:

• रोगों के लिए नए नए दवाई अविष्कार करना।

• कौनसी दावा किस रोग के लिए बेहतर है और कैसे शेवण किया जाए ताकि मरीजों के लिए बेहतर से बेहतर साबित हो।

• कम से कम खर्च में सबसे असरदार दवाएं मरीजों को कैसे उपलब्ध करवाया जा सके इसके बारे में।

• दवाई का गुणवत्ता कैसे चेक किया जाए ताकि मरीजों के लिए हानिकारक न हो।

• इस के अलावा, ड्रग्स के mechanism of action, interaction, साइड इफ़ेक्ट और विषाक्तता इत्यादि के बारे में पढ़ाया जाता है।

2. B pharma kya hai:

B pharmacy का पूरा नाम है Bachelor of Pharmacy.

यह एक ग्रेजुएशन डिग्री है जिसका अवधि है 4 साल। इस पाठ्यक्रम में प्रबेश करने के लिए कम से कम 12 th पास होनी चाहिए।

बी फार्मा में, दवाई कैसे बनाये, किस रोग के लिए कौनसा दवाई चाहिए, दवाईओ के गुणवत्ता कैसे चेक करें इत्यादि के बारे में पढाई जाते है।

फार्मेसी के प्रकार:

हम लोग पिछले आर्टिकल में जाने है कि फार्मेसी मुख्य रूप से तीन प्रकार के है।

  • D Pharma (Diploma in Pharmacy)
  • B. Pharma (Bachelor of Pharmacy)
  • M. Pharma (Master of Pharmacy)

फार्मेसी सिरीज़ के पहली आर्टिकल में हमने D pharma course के बारे में जान चुके है।

लेकिन आज की इस आर्टिकल पे हम बी फार्म के बारे में जानने वाले है।

आइए सबसे पहले बी फार्म के योग्यता के बारे में बात कर लेते है।

3. B Pharma Eligibility in Hindi:

बी फार्मा के योग्यता को लेकर लोगो के मन में ढेर सारे सवाल होते है।

लेकिन मैं एक फार्मासिस्ट होने के नाते, इसके बारे आप को बारीकी से बताने की कोशिश करूंगा ताकि आपके मन मे कोई सवाल न रहे।

• शैक्षिक योग्यता:

अगर आप बी फार्म करना चाहते तो सबसे पहले आपको एक इंडियन सिटिज़न होगा पड़ेगा।

उसके बाद, 12th क्लास में फिजिकल साइंस, रसायन विज्ञान और गणित या फिर,

फिजिकल साइंस, रसायन विज्ञान और जीवविज्ञान को लेकर पास करना होगा।

• Marsk (अंक):

12th क्लास में PCM या फिर PCB लेकर कम से कम 45 प्रतिशत अंक के साथ पास करना होगा।

यह भी ध्यान रखे कि, किसी किसी कॉलेज में प्रवेश करने के लिए ज्यादा अंक की जरूरत पड़ती है।

• Age (आयु):

इस कोर्स में प्रवेश करने लिए कैंडिडेट को नुन्यतम 17 साल की होनी चाहिए।

अगर आपके आयु 17 साल से नीचे है तो आप इसके लिए योग्य नहीं माना जाता।

मगर अछि बात तो यह है कि इसके लिए कोई निर्दिष्ट अधिकतम आयु नहीं है।

अलग अलग कॉलेज अपनी मन मुताबिक अधिकतम आयु का निर्धारण करते है।

4. B pharmacy के लिए एंट्रेंस एग्जाम:

इस कोर्स के लिए अलग अलग राज्य में अलग अलग नाम से एंट्रेंस एग्जाम लिया जाता है।

WBJEE: पश्चिम बंगाल में बी फार्मेसी और इंजीनियरिंग के लिए West Bengal Joint Entrance Examination लिया जाते है।

MHT-CET: महाराष्ट्र कॉमन एंट्रेंस टेस्ट, बी फार्म और इंजीनियरिंग कोर्स में प्रवेश करने के हेतु लिया जाते है।

BITSAT: बिरला इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी साइंस एडमिशन टेस्ट, बी फार्मा और दूसरे प्रवेशिका कोर्स के लिए कंडक्ट किया जाते है।

GUJCET: गुजरात में बी फार्मा एंट्रेंस एग्जाम के तर पर गुजरात कॉमन एंट्रेंस टेस्ट कंडक्ट करवाते है।

UPSEE: अगर आप उत्तर प्रदेश के रहने वाले है तो आप उत्तर प्रदेश स्टेट एंट्रेंस एग्जामिनेशन दे सकते है।

TS EAMCET: तेलेंगाना स्टेट एंगीनियरिंग, एग्रीकल्चर एंड मेडिकल कॉमन एंट्रेंस टेस्ट देकर भी आप बी फार्म के कोर्स कर सकते है।

अगर आप दूसरे किसी राज्य के है तो आपको टेंशन लेने की जरूरत नहीं, हर राज्य अपने छात्रों के लिए किसी न किसी नाम से एग्जाम करवाते है।

इन सारे एग्जाम के अलावा भी कुछ सरकारी और प्राइवेट कॉलेज मेरिट के तर पर एडमिशन करवाते है।

5. Duration of Bachelor of pharmacy (कोर्स के लिए अवधि):

अगर आप 12th पूरा करने के बाद बी फार्मा करना चाहते है तो बी फार्मा के कोर्स अवधि होगा पूरे चार साल की।

और अगर आप Diploma in Pharmacy कम्पलीट करने के बाद बैचलर ऑफ फार्मेसी करना चाहते तो उसके लिए कोर्स अवधि होगा तीन साल की।

6. B pharma ki fees kitni hai:

वैसे तो बी फार्मा कोर्स के लिए कोई निर्धारित फीस नहीं है।

यह कॉलेज के ऊपर निर्भर करती है कि वे कितने फीस लेंगे।

लेकिन सरकारी कॉलेज में सरकार निर्धारित फेस लेते है परंतु प्राइवेट कॉलेज अपनी मन मुताबिक फीस लेते रहते थे।

मगर नई शिक्षा नीति के अनुसार प्राइवेट कॉलेज के लिए भी एक फीस स्ट्रक्चर होगा। लेकिन वो अभी बाद कि बात है।

अभी के समय सरकारी कॉलेज में बी फार्मा कोर्स के लिए लगभग 50 हज़ार से 1 लाख रुपए लग जाते है।

और प्राइवेट कॉलेज में यही फीस 1.5 लाख से लेकर 3.5 लाख रूपए तक होते है।

7. B pharmacy ke Subjects:

बी फार्मा के अवधि 4 साल होने के नाते, छात्रों को 8 सेमिस्टर देना होता है।

इसलिए, स्टूडेंट्स के मन मे सवाल होते है की इन 4 साल में तथा 8 सेमिस्टर में उन को क्या क्या सब्जेक्ट पढ़ना पड़ेगा।

आइए जान लेते है:

सेमिस्टर-1

S.L Theories Practical
1.Human Anatomy and Physiology-1Human Anatomy and Physiology-1
2.Pharmaceutical Analysis-1Pharmaceutical Analysis-1
3.Pharmaceutical Inorganic ChemistryPharmaceutical Inorganic Chemistry
4.Pharmaceutics-1Pharmaceutics-1
5.Communication skillsCommunication skills
6.Remedial BiologyRemedial Biology

सेमिस्टर-2

S.L Theories Practical
1.Human Anatomy and Physiology-2Human Anatomy and Physiology-2
2.Pharmaceutical Organic Chemistry-1Pharmaceutical Organic Chemistry-1
3.BiochemistryBiochemistry
4.Pathophysiology
5.Computer Applications in PharmacyComputer Applications in Pharmacy
6.Environmental sciencesEnvironmental sciences

सेमिस्टर-3

S.L Theories Practical
1.Pharmaceutical Organic Chemistry-2Pharmaceutical Organic Chemistry-2
2.Physical Pharmaceutics-1Physical Pharmaceutics-1
3.Pharmaceutical MicrobiologyPharmaceutical Microbiology
4.Pharmaceutical EngineeringPharmaceutical Engineering

सेमिस्टर-4

S.L Theories Practical
1.Pharmaceutical Organic Chemistry-3
2.Medicinal Chemistry-1Medicinal Chemistry-1
3.Physical Pharmaceutics-2Physical Pharmaceutics-2
4.Pharmacology-1Pharmacology-1
5.Pharmacognosy-1Pharmacognosy-1

सेमिस्टर-5

S.L Theories Practical
1.Medicinal Chemistry-2
2.Industrial  Pharmacy-1Industrial  Pharmacy-1
3.Pharmacology-2Pharmacology-2
4.Pharmacognosy-2Pharmacognosy-2
5.Pharmaceutical Jurisprudence

सेमिस्टर-6

S.L Theories Practical
1.Medicinal Chemistry-3Medicinal Chemistry-3
2.Pharmacology-3Pharmacology-3
3.Herbal Drug TechnologyHerbal Drug Technology
4.Biopharmaceutics and Pharmacokinetics
5.Pharmaceutical Biotechnology
6.Quality Assurance

सेमिस्टर-7

S.L Theories Practical
1.Instrumental Methods of AnalysisInstrumental Methods of Analysis
2.Industrial Pharmacy
3.Pharmacy Practice
4.Novel Drug Delivery System
5.Practice School*

* यह कोई एग्जाम नहीं है।

सेमिस्टर-8

S.L Subjects
1.Biostatistics and Research Methodology
2.Social and Preventive Pharmacy
3.Pharma Marketing  Management
4.Quality Control and Standardizations of Herbals
5.Pharmacovigilance
6.Computer Aided Drug Design
7.Pharmaceutical Regulatory Science
8.Cell and Molecular Biology
9.Dietary Supplements and Nutraceuticals
10.Cosmetic Science
11.Advanced Instrumentation Techniques
12.Experimental Pharmacology
13.Project Work

8. Top Pharmacy College in India:

वैसे तो इंडिया में ढेर सारे फार्मेसी कॉलेज है परंतु हर कोई जानना चाहते है कि Top pharmacy college कौन सी है?

2020 में रैंकिंग के हिसाब से, टॉप 10 फार्मेसी कॉलेज के नाम दिया गया है:

  1. National Institute of Pharmaceutical Education and Research (NIPER); Mohali, Punjab.
  2. University Institute of Pharmaceutical Science; Chandigarh.
  3. Institute of Chemical Technology; Mumbai, Maharashtra.
  4. Monipal College of Pharmaceutical Science; Manipal, Karnataka.
  5. Bombay College of Pharmacy; Mumbai, Maharashtra.
  6. JSS College of Pharmacy; Udagamandalam, Tamil Nadu.
  7. LM College of Pharmacy; Ahmedabad, Gujarat.
  8. Birla Institute of Technology; Ranchi, Jharkhand.
  9. Goa College of Pharmacy; Panji, Goa.
  10. Maharshi Dayanand University; Rohtak, Haryana.
  11. Delhi Institute of Pharmaceutical Sciences and Research; New Delhi, Delhi NCR.

9. B Pharma ke baad kya kare:

बी फार्मा करने के बाद आपके सामने तरह तरह के रास्ते खुल जाएगा।

सरकारी या प्राइवेट संस्थाओं में जॉब पाने की स्कोप कई गुना बढ़ जाते है।

आइए जान लेते है कि B pharm के कोर्स करने के बाद आपको इंडिया में क्या बेस्ट हाई पेइंग जॉब्स मिल सकते है:

• Drug Inspector

• Drug Analyst

• Drug Technician

• Professor

• Medical Transcription

• Drug Therapist

• Drug Administrator

• Technical Pharmacy

• Health Pharmacy

इन सारे जॉब्स के अलावा भी डिस्पेंसरी स्टोर में या फिर मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव इत्यादि के रूप में काम कर सकते है।

अगर आप खुद का मेडिकल बिजनेस सुरु करना चाहते है तो वो भी कर सकते है।

इसके अलावा विदेशों में भी फार्मासिस्ट के डिमांड हमारे देश से कई गुना ज्यादा है।

आप चाहे तो विदेशों में भी काम कर सकते है।

और अगर आप आगे की पढ़ाई जारी रखना चाहते तो M pharm कर सकते है।

10. B pharmacy के बाद सैलरी:

सैलरी कितना मिलेगा यह आपके जॉब के पोस्ट के ऊपर निर्भर करते है।

फिर भी प्राइवेट सेक्टर में फ्रेशर्स को लगभग 20 हज़ार से 25 हज़ार तक सैलरी मिल जाते है।

जब आपके एक्सपीरिएंस हो जाएगा, एक से दो साल के बाद सैलरी तेजी बढ़ने लगते है।

अगर आप सरकारी जॉब करना चाहते तो प्राथमिक स्तर पर लगभग 25 हज़ार से लेकर 30 हज़ार तक के सलाई मिल जाते है।

दोस्तो, रहा आज की आर्टिकल B pharmacy course details in hindi.

इसमें हमने जाना B pharma kya hai और कैसे करें, बी फार्मा की फीस कितनी है इत्यादि के बारे में।

फ़्रेंड्स, आज की आर्टिकल से आपको क्या सीखने को मिला है यह कमेंट करके बताए। और अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूले।

ऐसे ही शानदार आर्टिकल के बारे में जानने के लिए हमारे ब्लॉग को सब्सक्राइब करें।

इससे, जब भी हमारे ब्लॉग में कोई नया पोस्ट पब्लिश होगा आपको तुरंत पता चल जाएगा।

और आप उसके फायदे सबसे पहले उठा पाएंगे।

मिलते है अगली आर्टिकल में। धन्यवाद!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *