Menu Close

D.pharma Course Details in Hindi. योग्यता,एग्जाम, सिलेबस, फीस

क्या आप D. phama के बारे में चाहते है? अगर हां तो यह आर्टिकल आपके लिए है।

क्योंकि, आज की इस आर्टिकल पे हम लोग D.Pharma course details, जैसे कि

pharmacy क्या है, D.Pharma का eligibility क्या है, कोर्स फी, एंट्रेंस एग्जाम, scope क्या है, क्या job मिल सकता है? इत्यादि इसके बारे में बात करेंगे।

D.pharma course details in hindi,pharmacy क्या है, D.Pharma का eligibility क्या है, कोर्स फी, एंट्रेंस एग्जाम,scope क्या है,
D.pharma course details in hindi – फार्मेसी क्या है?
 
 
कोई भी स्टूडेंट्स क्यों न हो, उन के पढ़ने का एक ही मकसद होता है, पढ़ाई खत्म होने के बाद उन्हें एक अछि सी जॉब मिल जाये बस।
 
 
लेकिन इस कंपीटिशन के ज़माने अछि काम मिलना बहुत ही मुश्किल सा बन चुका है।
 

इसलिए स्टूडेंट्स हो या उनके माता पिता, हमेसा अछि प्रोफेशनल कोर्स के तलाश करते रहते है।

मेरी मानो, आज भी ऐसे बहुत सारे कोर्स है, जिसमे आप अपना उज्वल भविष्य बना सकते है।

मैं एक फार्मासिस्ट होने के नाते आपको कह सकता हूं कि, D pharma एक ऐसा कोर्स है, जहां कम खर्च और कम समय में कोई भी अपना उज्वल भविष्य बना सकते है।


इस आर्टिकल पे हम क्या जानेंगें:

   •   What is Pharmacy (फार्मेसी क्या है)?
•   Types of Pharmacy (फार्मेसी की प्रकारभेद).

डी फार्म कोर्स के पूरी जानकारी

1. What is D.Pharma (D.Pharma क्या है)?
2. Eligibility of D.Pharma (D.Pharma मैं प्रबेश के लिए योग्यता).
3. Duration of course( (course के समय काल)
4. Entrance exam for d.pharma (D.Pharma के लिए प्रबेश पोरीक्षा).
5. D.Pharma fees (D.Pharma मैं फीस कितनी है)?
6. Top institute in D.Pharma, in India.
7. D.Pharma subjects (D.Pharma में क्या क्या बिषय है)?
8. Syllab Syllabus of D.Pharma ( D.Pharma की पाठ्यक्रम).
9. What to do after D.Pharma(D.Pharma के बाद क्या करे)?
10. Scope of D.Pharma (D.Pharma की बिस्तार).
11. D.Pharma salaries (D.Pharma मैं कितनी वेतन है)?
12. D pharma related questions (FAQ)

D.pharmacy के बारे मे कुछ भी जानने से पहले हमें यह जानना बहुति जरूरी है कि pharmacy क्या है?

तो आइए जान लेते है कि फार्मेसी क्या है? और फार्मेसी कितने प्रकार के होते है?

What is Pharmacy (फार्मेसी क्या है):

 
Pharmacy चिकित्सा विज्ञान की एक ऐसा शाखा है जहाँ दवाओं के प्रस्तुत करना, बितरण करना, दवाओं की समिखा करना, साथ में स्वस्थ सेवाएं कैसे दी जाए इस के तकनीक सिखाया जाते है।

यह एक ऐसा पेशा है जहां सेहत के साथ दवाओं का संजोग स्थापन होता है।

इस पेशा की मुख्य उद्दश्य है, मरीजों के लिए कम से कम खर्च में सुरोक्षित, प्रभाबी दवाओं की सुनिश्चित करना।

 

Type of Pharmacy (फार्मेसी की प्रकार):

 
मूल रूप से फार्मेसी तीन प्रकार की है,
 
• डी.फार्मा (डिप्लोमा इन फार्मेसी
 
 
• एम.फार्मा (मास्टर ऑफ फार्मेसी)
 

हम इस आर्टिकल पर, खास कर डी फार्मा को लेकर बात करने वाले है।

D.pharma course details in hindi – D pharma eligibility

 

आइए सुरु करते है सुरुवात से और आपको D.Pharma के course details hindi में बारीकी से समझाते है।

आशा करता हूं, इस आर्टिकल के आखिर तक आपके सारे दुविधाओं का समाधान हो जाएगा।

और आपको पता चल जााएगा कि यह कोर्स आपके लिए सही है या नहीं।

1. What is D.Pharma (D.Pharma क्या है):

 
D pharma का full form है Diploma in Pharmacy.
 
डी फार्मा दो साल की एक एंट्री लेवल का प्रोफेशनल कोर्स है।

जहा दवाओं की उत्पाद, मार्केटिंग, दवाओं की क्वालिटी, स्टोरेज और डिस्ट्रीब्यूशन के बारे मे पढ़ाया जाते है।

 

इंडिया में,  PCI (Pharmacy Council of India) के द्वारा फार्मेसी के सारे रूल रेगुलेशन को नियंत्रण किया जाता है।

2. Eligibility of D.Pharma (D.Pharma मैं प्रबेश के लिए योग्यता):

 
D pharma एक अछि कोर्स होने के नाते बहुत सारे छात्रों इस फील्ड में अपने कैरियर बनाना चाहते है।
 
लेकिन उनको पता नहीं होता कि, इस कोर्स के लिए क्या क्या योग्यता होना जरूरी है।

तो आइए D. Pharma के eligibility क्या है वो जान लेते है।
 
 

• Subjects (बिषय):

D.Pharma करने के लिए आपको किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10+2 PCM (Physics,Chemistry,Mathematics)

या फिर PCB (Physics,Chemistry,Biology) में पास करने होंगे।

• Mark (अंक):

सरकारी या बेसरकारी कॉलेज मैं एडमिशन लेने के लिए सामान्य रूप से 45% से 50% अंक की जरूरत होती है।

लेकिन कुछ कॉलेज ऐसे भी है जहां ज्यादा अंक की मांग की जाती है।

Note: 45% SC छात्रों के लिए और 50% जनरल छात्रों के लिए।

• Age (आयु):

हर कोर्स की तरह D.Pharma पढ़ने के लिए भी एक मिनिमम आयु की मांग रहते है।

इन कोर्स में एंट्री होने के लिए आपके आयु कम से कम 17 साल होना जरूरी है।

और सर्वाच्च 32 साल कही कही लिखा रहती है पर यह कभी लागू नही होता।

मैं जब फार्मेसी पढ़ रहा था तब मेरे साथ तीन ऐसे छात्रों थे जिनके आयु 35 साल से 40 साल के बीच था।

इसलिए, जिन लोगो का ज्यादा age हो गया है परंतु D. Pharma पढ़ने के बारे मे सोच रहे है, उन लोग बिना किसी संकोच के डी फार्म में एडमिशन ले सकते है।

• क्या आर्ट्स और कॉमर्स के स्टूडेंट्स डी फार्मा कर सकता है:

सीधा सा बात, जिन लोग PCM या PCB बिषय ले कर 10+2 नही की है वह कभी भी इस कोर्स के लिए योग्य नहीं हो सकते।

अगर किसी स्टूडेंट्स आर्ट्स या फिर कॉमर्स के है लेकिन 10+2 में उनके काफी अच्छे मार्क्स आये है तो भी वे डी फार्म के लिए योग्य नहीं होगा।

Is D.Pharma distance education good (क्या ditance मैं D.Pharma कोर्स सही है):

 
मुख्यतर पर इस का कोई डिस्टेंस कोर्स नहीं होता।
मगर किसी किसी कॉलेज में इसे डिस्टेंस में करवाते है। पर सच मानो इस डिग्री का कोई मूल्य नहीं है।

अगर आप डिस्टेंस में यह कोर्स करना चाहते है तो यह सिर्फ आपके पैसो की बर्बादी होगी इसके अलावा और कुछ नहीं।

3. Duration of Course (Course का समय काल):

D.Pharma course के समय काल 2 साल है, इस के साथ 3 महीना के ट्रेनिंग है।

दो साल में चार सेमेस्टर देना पड़ता है। किसी किसी जगह सेमेस्टर के बदले वार्षिक एग्जाम कंडक्ट किया जाता है।

जहां वार्षिक एग्जाम होता है वहां दो साल में दो एग्जाम देना पड़ेगा।

दो साल पूरा होने के बाद, तीन माह की ट्रेनिंग किसी भी अस्पताल या दवाइयों की फैक्ट्री से लेना होता है।

4. Entrance exam for d.pharma (D.Pharma के लिए प्रबेश पोरीक्षा):

 
डी फार्मा कोर्स में एडमिशन कराने के लिए अलग अलग राज्य में अलग अलग नाम से एग्जाम लिया जाते है।

जैसे, GPAT, UPSEE, JEE Pharmacy, AU AIMEE, CPMT, PMET वगैरह।

एंट्रेंस एग्जाम में उत्तीर्ण होने के बाद रैंक के बेसिस पर एडमिशन लिया जाता है।

परंतु ऐसा बहुत सारे कॉलेज है जहाँ एडमिशन लेने के लिए आपको किसी प्रकार की एग्जाम नहीं देना पड़ेगा।

ऐसे कॉलेज में, स्टूडेंट्स के मेरिट पर एडमिशन कराया जाता है।

ऐसी कॉलेज ज्यादातर प्रिवेंट होते है। और यहां फीस भी काफी ज्यादा होती है।

5. D.Pharma fees (D.Pharma मैं फीस कितनी है):

 
हर राज्य में फीस स्ट्रक्चर अलग  होता है। फिरभी मैं आपको एक औसतन फीस बता रहा हूं।
 
इसके अंदर, कोई भी राज्य क्यों न हो वहां डी फार्मा कम्पलीट हो जाएगा।
 
आइये पहले सरकारी कॉलेज की फीस के बारे में बात कर लेते है।
 

 Government College fees:

 
किसी भी राज्य के सरकारी कॉलेज में डी फार्मा पूरा करने के लिए औसतन 15000 से 30000 हज़ार तक के fees लग जाते है (दो साल मिलाकर)।

 West Bangal मैं 7000 से 15000 के बीच में D pharma complete हो जाते है।

अगर किसी दूसरे राज्य में भी ऐसे कम खर्च होता है तो आप हमे कमेंट सेक्शन में  बता सकते है।

• Privet College:

किसी भी राज्य के प्राइवेट कॉलेज अपने हिसाब से फीस लेते थे लेकिन नई शिक्षा नीति आने के बाद इसमें अब ऐसा नहीं होगा।
 
 
नई नीति के तहत, प्राइवेट कॉलेज के लिए भी एक निर्दिष्ट फीस स्ट्रक्चर रहेगा।
फिर भी, प्राइवेट कॉलेज में औसतन 150000 से 300000 रुपिया तक लग जाते है इस कोर्स को कम्पलीट करने के लिए।

6. Top 10 D.Pharma college in India:

 

वैसे तो इंडिया में बहुत सारे कॉलेज है लेकिन मैं यहां आपको  Top 10 D.Pharma college के बारे में थोड़ा सा बताया है।

D.Pharma course details,pharmacy क्या है,D.Pharma का eligibility क्या है,कोर्स फी, एंट्रेंस एग्जाम,scope क्या है,
Top pharmacy college
 
 1. Jamia Hamdard University; New Delhi.
 
 2. Manipal College of Pharmaceutical Science; Manipal, Karnataka.                                
 

  3. Poona College of Pharmacy; Puna, Maharashtra.

  4. Delhi Pharmaceutical Science and Research University; New Delhi.

  5. Bundelkhand University; Jhansi, U.P

  6. Swami Vivekanand Suharto University; Meerut, U.P

  7. L.M college of Pharmacy; Ahmedabad, Gujarat.
 

  8. Guru Ghasidas University; Bilaspur, Chhattisgarh.

  9. Deccan School of Pharmacy; Hyderabad, Telangana.

10. Adamas University; Kolkata, W.B.

7. D.Pharma subjects (डी फार्मा कोर्स में क्या विषय है):

 

D.Pharma 2 साल के कोर्स होने के कारण दोनों साल में अलग अलग विषय पढ़ना पड़ता है।

1st Year Subjects,

1. Pharmaceutics-i

           2. Pharmaceutical Chemistry-i
 
           3. Pharmacology
 
           4. Biochemistry & Clinical Pathology
 
           5. Health Education &Community Pharmacy
 
           6. Human Anatomy & Physiology

2nd Year Subjects,

1. Pharmaceutics-ii

            2. Pharmaceutical Chemistry-ii
 
            3. Pharmacology & Toxicology
 
            4. Hospital & Clinical Pharmacy
 
            5.Drug Store & Business Management
 
            6. Pharmaceutical jurisprudence

8. Syllabus of D.Pharma ( D.Pharma की पाठ्यक्रम):

 

D.Pharma के पूरा syllabus जानने के लिए आप इस pdf को डाउनलोड कर सकते है D pharma course details PDF download

यहां आपको 1st year और 2nd year के syllabus के बारे में पूरी जानकारी मिल जाएगा।

9. What to do after D.Pharma(D.Pharma के बाद क्या करे):

 

कोर्स पूरा होने के बाद आप आगे की पढ़ाई जारी रख सकते है या फिर job कर सकते है, यह आपके ऊपर निर्भर करेगा।

 
अगर आप आगे की पढ़ाई जारी रखना चाहते है तो आपके लिए कुछ कोर्स नीचे दिया गया है।

D. Pharma के बाद कि पढ़ाई:

 
जिन लोग हाई प्रोफाइल जॉब करना चाहते है वे इन सारे कोर्स कर सकते है। जैसे कि,

• Bachelor of Pharmacy

• Diploma in manufacturing/Production

• Doctor of Pharmacy

• Pharmaceutical Analysis

• Cardiovascular Pharmacy

• Oncology Pharmacy

• Pharmacotherapy Pharmacy

• Nuclear Pharmacy etc.

अगर आप डी.फार्मा के बाद bachelor in pharmacy यानी बी.फार्मा करना चाहते है।

 
तो आपको सीधा बी.फार्मा के 2nd year में एडमिशन मिल जाएगा।
 
और अगर आप जॉब करना चाहते है तो, D.Pharma के बाद जॉब का स्कोप क्या है इस के बारे मैं नीचे देख सकते है।

10. Scope of D.Pharma (D.Pharma की बिस्तार):

 
डी फार्मा पूरा होने के बाद सरकारी या फिर निजी कंपनी में जॉब मिलने की स्कोप कई गुना बढ़ जाता है।

दोनों ही सेक्टर के कुछ जॉब के नाम नीचे उल्लेख किया हूं,

Government Job:

 
1. Indian Drugs & Pharmaceuticals Ltd

2. Projects & Development India Ltd

3. Indian Medicines & Pharmaceutical Corporation Ltd

4. Rajasthan Drugs & Pharmaceuticals Ltd

5. Bengal Chemicals & Pharmaceuticals Ltd

6. Karnataka Antibiotics & Pharmaceuticals Ltd

7. Bharat Immunologicals & Biologicals Corporation Ltd

8. Hindustan Antibiotics Ltd

9. Hindustan Fluorocarbons Limited

10. Orissa Drugs & Chemicals Ltd

Privet Job:

1. Medical Transcriptionist

2. Scientific Officer

3. Technical Supervisor

4. Chemist or Pharmacist

5. Production Executive

6. Quality Analyst

7. Medical Representatives

इस के अलावा विदेशों में भी फार्मासिस्ट के लिए अछि अवसर है। 

आप चाहे तो बिदेश में भी जॉब कर सकते हो या अपने खुद का बिजनेस सुरु कर सकते है।

 Read More > हाई पेइंग जॉब्स इन इंडिया

11. D.Pharma salaries (D.Pharma मैं कितनी है):

 
सैलरी बहुत सारे चीजो के ऊपर निर्भर करते है। जैसे कि आप कौन सा सेक्टर में काम करना चाह रहे है, सरकारी या निजी कंपनी।
 
जॉब के पोस्ट कौन सा है, आपके एक्सपेरिएंस है कि नहीं इत्यादि।

अगर आपके कोई भी एक्सपेरिएंस नहीं है तो आपको प्राथमिक स्तर पर 20,000 से 30,000 रुपिया तक के सेलरी मिल जाएगा।

मगर बहुत सारे ऐसे जॉब है जहां पर आप आसानी से 50000 से 100000 तक के सैलरी कमा सकते है।

यह सारे निर्भर करते है आप कहां और कौन सा पोस्ट मैं काम करोगे, इस के ऊपर।

12. D.pharma Related Question:

 

what is full form of D.pharma?

 
And: D pharma का फुल फॉर्म है Diploma in Pharmacy. यह दो साल की प्रोफेशनल कोर्स है। 10+2 के बाद इस कोर्स के लिए अप्लाई किये जाते है।
 

D pharma के लिए सही कॉलेज का निर्धारण कैसे करें?

 
Ans: सही कॉलेज के निर्धारण के लिए आपको कुछ चीज़ों के ऊपर ध्यान देना होगा। जैसे
 
वे कॉलेज PCI (Pharmacy Council of India) approved है या नहीं यह चेक करना पड़ेगा।
 
उसके बाद उस कॉलेज के बारे में ऑनलाइन रिव्यु देख सकते है। और अगर आपके कोई जान पहचान वाले, उस कॉलेज के स्टूडेंट है तो उसके साथ भी बात कर सकते है।
 

क्या Arts के स्टूडेंट्स फार्मेसी के लिए अप्लाई कर सकते है?

 
Ans: इसका सीधा सा उत्तर है नहीं। जो भी स्टूडेंट 10+2 में PCM(physics, chemistry, mathematics)
 
या फिर PCB(physics, chemistry, biology) लेकर कम से कम 45 प्रतिशत नंबर के साथ पास किये है केवल वहीं स्टूडेंट फार्मेसी के लिए एलिजिबल है।
 

आपके लिए D pharma या B pharma, कौन सा course अच्छा रहगा?

 
Ans: आप कौन सा कोर्स करेंगे यह आपके ऊपर निर्भर करता है।
 
B pharma के लिए 4 साल और Dpharma के लिए 2 साल की जरूरत पड़ती है। लेकिन दोनों ही कोर्स की डिमांड बाजार में काफी ज्यादा है।
 
इसलिए अगर आप जल्द ही जॉब पाना चाहते है तो D pharma बेस्ट ऑप्शन साबित होगा।
 

D pharma ki fees कितना है?

 
अलग अलग राज्य में D pharma के fees structure अलग होता है।
 
अगर कोई स्टूडेंट सरकारी कॉलेज में एडमिशन लेते है तो उसके ज्यादा fees की जरूरत नहीं पड़ती।
 
सरकारी कॉलेज में D pharmacy पूरा करने के लिए लगभग 15 से लेकर 30 हज़ार तक खर्च होती है।
 
वही अगर कोई प्राइवेट कॉलेज में एडमिशन लेते है तो उसके लिए खर्च काफी ज्यादा आएगा।
 
प्राइवेट कॉलेज में 1 लाख से लेकर 3 लाख तक भी खर्च हो सकता है। यह कॉलेज के परफॉरमेंस के ऊपर निर्भर करती है।
 

क्या D pharma पूरा होने के बाद जॉब मिलना आसान होगा?

 
Ans: मेरे भाई, मैं तो यह नहीं कहूंगा कि आपको सौ प्रतिशत जॉब मिल जाएगा।
 
लेकिन हां Diploma in pharmacy करने के बाद जॉब पाना काफी आसान हो जाती है।
 
और आपको एक बात ध्यान रखना चाहिए की, हमारे देश मे हेल्थ से जुड़े कोई भी कम क्यों न हो उसके डिमांड हमेसा से है और आगे भी रहगा।
 

क्या D pharma complete होने के बाद हम मेडिकल स्टोर सुरु कर सकते है?

 
Ans: जी हां, आप बिलकुल सुरु कर सकते है। जब आपके कोर्स कम्पलीट हो जाएगा तब आपको रेजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट दिया जाता है।
 
आप उस सर्टिफिकेट के मदत से अपना खुद का मेडिकल शॉप खोल सकते है।
 

क्या मैं D pharma certificate rent पर दे सकता हूं?

 
Ans: हां, आप रेंट पर भी दे सकते है। लेकिन इसके लिए आपको कुछ लीगल प्रोसेस से गुजरना पड़ेगा।
 
उसके बाद आप चाहे तो अपना सर्टिफिकेट रेंट पे दे सकते है।
 

दोस्तो, आशा करता हूं आपको इस आर्टिकल D.pharma course details in hindi से कुछ नया सीखने को मिला है।

अगर कुछ सीखी है तो अपने दोस्तों के साथ भी जरूर शेयर करें ताकि उन्हें भी D pharma के बारे में सही जानकारी मिले।

और अगर कोई सवाल या सुझाव है तो हमे कमेंट में बताये हम आपके कमेंट का जवाब जरूर देंगे।

ऐसे ही शानदार जानकारी बिलकुल मुफ्त में पाने के लिए आप हमारे ब्लॉग को सब्सक्राइब अबश्य करे।

ताकि, जब भी हम कोई आर्टिकल पब्लिश करें, आपको तुरंत नोटिफिकेशन प्राप्त हो जाये और आप उसके फायदे सबसे पहले उठा सकें।

शेयर करो ना यार। धन्यवाद!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *